Investing in stocks with less money explained | Hindi

Podcast Duration: 08:01

हाय दोस्तों, एंजेल ब्रोकिंग के इस पॉडकास्ट में आपका स्वागत है। दोस्तों यद है जाब आप फ्रेशर हुए थे और फ़र्स्ट जॉब ढूंढ रहे थे? हर कोई फ्रेशेर्स को रखना नहीं चाहता। लेकिन अगर कोई फ्रेशर को रखेगा नहीं तो फ्रेशर, फ्रेशर ही रहेगा है न? इसे कहते हैं मुश्किल परिस्थिति। कई बार जब लोग स्टॉक मार्केट के बारे में राय देते हैं तो मुझे ऐसी ही मुश्किल परिस्थिति लगती है। वो आपको कहते हैं के भाई सिर्फ अतिरिक्त पैसा या आमदनी से ही निवेश करो। लेकिन यह अतिरिक्त आमदनी आएगी कहाँ से अगर मैं अपने कमाए हुए पैसों में से ही और पैसे न बनाऊँ? जवान नौकरीपेशा लोगों के पास अतिरिक्त पैसा मुश्किल से ही रहता है- क्योंकि ज़्यादातर किराया भर्ना होता है, या कुछ मासिक सब्स्क्रिप्शन और कुछ और मासिक खर्चे होते हैं। और फिर कपड़े, जूते और कुछ सामान की भी आवश्यकता होती है जो हमें चलाये रखने के लिए एक दवाई के रूप में ज़रूरी होते हैं। इसके अलावा कुछ उपहार, ट्रीट अलावा जैसे खर्चे। अब तो सेनीटाइज़र और फ़ेस मास्क भी एक खर्च बन चुका है जिस तरह हम उनका इस्तेमाल कर रहे हैं। तो अतिरिक्त पैसा कहाँ से आएगा? ज़्यादा से ज़्यादा नौकरीपेशा लोग कुछ छोटी सी राशि बचा पाएंगे जिसे वो स्टॉक मार्केट में निवेश कर सकते हैं। तो क्या छोटी राशि शेयर बाज़ार में लगाई जा सक्ति है? जी हाँ, जी हाँ ... आप यह कर सकते है, चलिए देखते हैं कैसे। सबसे पहले देखते हैं की लोग केवल अतिरिक्त पैसे को ही निवेश करने को क्यों कहते हैं? अगर आप युवा हैं जिनके पास कोई आर्थिक ज़िम्मेदारी नहीं है, आपके सामने पूरा जीवन पड़ा है और एक निश्चित इंकम है, तो यह आप पर लागू नहीं होता। पर कल्पना कीजिये कोई ऐसा जो लोन की ई एम आई के साथ -साथ छोटे बच्चों की फीस भी दे रहा है, घर खर्च और नौकरी भी पक्की नहीं है। ऐसा इंसान अपने पैसे स्टॉक मार्केट में लगा नहीं सकता और उन्हें गँवाने की तो बिलकुल सोच भी नहीं सकता। स्टॉक मार्केट में रिस्क अवॉइड नहीं किया जा सकता पर कम कर सकते हो,नियंत्रित कर सकते हो। तो एक बंधी हुई इंकम ज़रूरी है। इससे अगर आपको स्टॉक मार्केट में कोई नुकसान होगा तो आप अगली सैलरी के पैसे से आपके रोज़मर्रा के खर्चे कर सकते हैं। तो अगर आपकी एक पक्की नौकरी है और आपने तय किया है कि आप रुपये 5000 या 15000 रुपये जो भी राशि बचाएंगे तो कौन सा निवेश आपके लिए बेहतर होगा ? यहाँ कुछ ऐसे तरीके हैं जिनके जरिये आप कम राशि से भी निवेश कर सकते हैं। दोस्त निवेश कितना है यह नहीं , बल्कि वो कैसे किया गया है यह ज्यादा महत्वपूर्ण होता है। एक अच्छी योजना से आप 500 रुपये को भी 50,000 रुपये में बादल लेंगे। और किसी अच्छी योजना के बिना 50,000 को 500 रुपये भी बना सकते हैं। यह सिर्फ एक उदाहरण है। तो शेयर बाज़ार के लिए सही योजना होना ज़रूरी है- इनमें से कई नियम भी लागू होते हैं जब आपके पास निवेश करने के लिए ज्यादा पूंजी हो। 1. एक ऐसा ऑनलाइन बिचौलिया ढूँढे जो आपको कम फीस में सेवाएँ दे। दोस्तों आपको 24 घंटे किसी विशेषज्ञ कि ज़रूरत नहीं है अगर आप चोटी राशि निवेश कर रहे हैं। आपको एक कम मूल्य का, आरामदायक प्लैटफ़ार्म चाहिए जो आपको शेयर बाज़ार में प्रवेश देता है, निवेश के बारे में कुछ शिक्षा और स्टॉक का ग्राफ और डाटा देता है। आजकल ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए निवेशकों के पास कई विकल्प हैं। जैसे कि एंजेल ब्रोकिंग आपको केवल 20 रुपये कि फ्लॅट फी के साथ ट्रेड करने कि सुविधा देता है और आप इसका फ्री एप भी डाउनलोड करके फ्री डीमेट और ट्रेडिंग अकाउंट कुछ घंटों में ही प सकते हैं। इसका उपयोग आप कहीं भी बैठे - बैठे कर सकते हैं। 2. लंबी अवधि के लिए निवेश कीजिये। कुछ कंपनियाँ ऐसी होती हैं की लंबी अवधि में उनकी स्टॉक की कीमतें बढ़ती हैं। कंपनियाँ जो ज़रूरी सामान या सेवाएँ बेचती हैं ऐसे ही उदाहरण हैं। इनके स्टॉक की कीमतें कुछ साल बाद बढ़ने की संभावना रखती हैं। 3. अपने निवेश को विविधता दीजिये। कम पैसा जब हाथ में होता है आपको पूरा पैसा एक ही जगह डालने का लालच रहेगा ही। लेकिन आपको इससे बचना है, कई अलग कंपनी और अलग सैक्टर के थोड़े -थोड़े शेयर खरीद लो। ताकि किसी एक शेयर में घाटे को दूसरे शेयर में फ़ायदे से कवर किया जा सके।इससे आप अपने चांसिस को बढ़ा रहे हो, और भी तरीके होते हैं पोर्टफोलियो को विविधता देने के तो निवेश से पहले अच्छी तरह से रिसर्च कर लें। जिस सैक्टर के बारे में आप अच्छे से जानते हैं उसके कई शेयर की एक बास्केट बना लें। सिर्फ विविधता देने की बात नहीं है, आपको उस सैक्टर से शेयर खरीदने चाहिए जिसको आप अच्छी तरह से समझते हैं, इससे आप उसके आर्थिक पहलू को अच्छी तरह से समझ पाएंगे। आपको यह अंदाज़ा लगाना होता है की जिस कंपनी के शेयर आप खरीदने जा रहे हैं वो आपको मुनाफा दे पाएंगे या नहीं। क्या इनके बिज़नस में आगे कमाई होने की संभावना है या नहीं? आपको ऐसे सवालों के जवाब ढूँढने होंगे। 5. अपने लक्ष्य निर्धारित कीजिये। मुनाफे का या जिस स्टॉक में आप निवेश करने वाले हैं उसके टार्गेट कीमत का एक लक्ष्य बनाइये हो सकता है आप स्टॉक को रुपये 100 में खरीद रहे हों और आपको रुपये 75 की कमाई चाहिए, तो आपका टार्गेट प्राइस 175 रुपये होगा। जन स्टॉक की कीमत रुपये 175 हो जाती है तब उस शेयर को बेच दीजिये। यह महत्वपूर्ण बात है दोस्त जब शेयर आपके टार्गेट प्राइस तक पहुँच जाये तब उसे बेच दीजिये। लालच शेयर बाज़ार में अच्छी बात नहीं होती क्योंकि वो एक इमोशन है और इमोशन से निर्णय गलत भी हो सकता है, शेयर की कीमत कभी भी गिर सकती है तो जब टार्गेट प्राइस पर शेयर आ जाए उसे बेच देना ही सही है। 6. सही स्टॉप लॉस निश्चित कीजिये - जब आपके पास कम पैसे हैं तो आपको चिंता होगी और आप स्टॉप लॉस भी सेट करेंगे, लेकिन तक उतार चढ़ाव के लिए गुंजाइश नहीं बचेगी। तो इसके लिए एक उचित स्टॉप लॉस निश्चित करें ताकि उतार चढ़ाव के लिए जगह हो। 7. हमेशा फिर से निवेश कीजिये - जब तक आपकी निवेश पूंजी बहुत कम है अपने कमाई को वेस्ट मत करो बल्कि उससे भी स्टॉक्स खरीद लो और कमाने की संभावना रखो। उदाहरण के लिए अभी आपका छोटा सा निवेश रुपये 5000 से 7500 रुपये हो गया है तो उस रुपये 7500 से भी आगे और निवेश करके आप अन्य सैक्टर के शेयर खरीद सकते हैं। 8. एक दम चरम स्थिति को रोकिए- बिलकुल सस्ते या बहुत महंगे शेयर मत खरीदिए, आपके पास बहुत महंगे शेयर खरीदने का पैसा नहीं है और इतने भी नहीं की आप अपने पैसे एक ऐसे स्टॉक पर लगाएँ जिसकी मांग इतनी कम है की वो अपने न्यूनतम कीमत पर है। बस इतना ही, यह 8 बातें याद रखिए अपनी रिसर्च कीजिये और जानकारी के लिए हमारे यू ट्यूब चैनल और वैबसाइट पर जा सकते हैं। दोस्तों आज के पॉडकास्ट में बस इतना ही, तब तक के लिए एंजेल ब्रोकिंग की तरफ से अलविदा और शुभ निवेश ! ​निवेश और बाज़ार जोखिमों के आधीन हैं, कृपया संबन्धित दस्तावेज़ ध्यान से पढ़ें। ​