शेयर बाजार क्या है?

शेयर बाजार एक बाजारस्थल है जहां आप शेयरों और स्टॉक में कारोबार के लिए खरीदारों और विक्रेताओं से मिलते हैं। कंपनियां शेयर बाजार से संपर्क करती हैं अपने शेयरों की बिक्री शुरू करती हैं और बाजार कारोबार के लिए शेयरों को जारी करता है।

शेयर बाजार की कहानी क्या है?

यह सब भारतीय शेयर बाजार के साथ शुरू हुआ जो बरगद के पेड़ों के आसपास संचालित था जहां खरीदार और विक्रेता स्टॉक में कारोबार करने के लिए मिलते थे। 1854 में, वे दलाल स्ट्रीट में चले गए जो अब एशिया में सबसे पुराने स्टॉक एक्सचेंज यानी बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के लिए लोकप्रिय है। बीएसई भारत में पहला स्टॉक एक्सचेंज बन गया और भारतीय शेयर बाजार के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

बाद में 1992 में, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) की स्थापना की गई थी। एनएसई एक आधुनिक, पूरी तरह से स्वचालित स्क्रीन-आधारित इलेक्ट्रॉनिक कारोबार प्रणाली प्रदान करने वाला देश का पहला एक्सचेंज था जिसने देश भर में फैले निवेशकों को आसान कारोबार सुविधा प्रदान की।

मुझे बाजारों के बारे में और बताएं?

आइए ‘पूंजी’ शब्द से शुरू करते हैं जो व्यक्तियों या संगठनों के स्वामित्व वाले धन, संपत्ति या निवेश के रूप में धन को इंगित करती है। पूंजी बाजार निवेश के विभिन्न तरीकों का उपयोग करके व्यक्तियों और संगठनों को अपनी विभिन्न जरूरतों को पूरा करने में मदद करते हैं जैसे कि कार खरीदना, बचत बढ़ाना आदि।

पूंजी बाजार आम तौर पर प्राथमिक बाजार और द्वितीयक बाजार से मिलकर बनता है।

प्राथमिक बाजार वह बाजार है जहां निवेशकों को पहली बार प्रतिभूतियां जारी की जाती हैं जबकि द्वितीयक बाजार ऐसे बाजार को संदर्भित करता है जहां प्राथमिक बाजार में जनता को पेश किए जाने के बाद प्रतिभूतियों का कारोबार होता है और/या स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध होता है। अधिकतर कारोबा द्वितीयक बाजार में किया जाता है।

प्राथमिक बाजारों के विषय में प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) का पर्याय बनने के बारे में विचार किया जा सकता है। सीधे शब्दों में कहें, एक आईपीओ तब व्युत्पन्न होता है जब एक निजी कंपनी पहली बार जनता को स्टॉक बेचती है। द्वितीयक बाजार आम तौर वे होते हैं जब लोग शेयर बाजारों के बारे में बात करते हैं।

कंपनियां बाजार में अपने शेयर क्यों प्रदान करती हैं?

कंपनियों कंपनी के विस्तार, नई मशीनरी, आदि की खरीद के रूप में अपने विभिन्न लक्ष्यों को पूरा करने के लिए पैसे जुटाने हेतु बाजार में अपने शेयरों की पेशकश करती हैं।शेयरधारकों द्वारा खर्च किए धन का उपयोग कंपनी के कारोबार का निर्माण करने के लिए किया जाएगा।

मुझे शेयर बाजारों के फायदे के बारे में और अधिक बताएं?

स्पष्ट लाभों में से एक यह है कि वे फर्म/निगमों को दीर्घकाल तक वित्त को सुरक्षित करने की अनुमति देते हैं जो उन्हें नई परियोजनाएं अधिग्रहीत करने और बढ़ने की अनुमति देगा। बड़ा लाभ हालांकि निवेशक अर्जित करना है, जो उनके शेयरों में निवेश करके इन कंपनियों के विकास में भाग ले सकते हैं।

बाजार निवेशकों को किसी भी कंपनी के शेयरों से मांग और आपूर्ति द्वारा निर्धारित मूल्य पर आसान प्रवेश और निर्गम की अनुमति देता है।

खरीदने और बेचने की क्षमता के अलावा, निवेशकों को सूचित निर्णय लेने के लिए सूचीबद्ध कंपनियों के बारे में सभी प्रासंगिक जानकारी तक पहुंच प्राप्त होती है। स्टॉक एक्सचेंज और मार्केट नियामकों द्वारा सूचीबद्ध कंपनियों को सख्त प्रकटीकरण और नियामक आवश्यकताओं को पूरा करने की आवश्यकता होती है।

स्टॉक एक्सचेंज निवेशकों को एक विश्वसनीय और सुरक्षित समाशोधन तंत्र के साथ भी आश्वस्त करते हैं। इस तरह, निवेशकों को यकीन है कि उनके द्वारा खरीदे गए स्टॉक उन्हें डिलीवर किए जाएंगे, भले ही लेनदेन का प्रतिपक्ष डिलीवर न करे।