कारोबार की तलाश कर रहे किसी के लिए भी, बहुत सारे वित्तीय बाजार हैं, जिनमें कि आप निवेश कर सकते हैं । सभी को जरूरत है तो बस निवेश करने के सही तरीकों को खोजने की है। आज अधिकतर वित्तीय बाजारों में निवेश करने का सबसे लोकप्रिय तरीका फ्यूचर्स कारोबार के माध्यम से है। फ्यूचर्स में कारोबार को आपके कारोबार में निवेश करने की उचित, उच्च लाभ प्राप्त करने वाली और लागत प्रभावी विधि माना जाता है।

फ्यूचर्स कारोबार क्या है?

फ्यूचर्स कारोबार अनिवार्य रूप से फ्यूचर्स अनुबंधों के माध्यम से कारोबार को संदर्भित करता है। यहां बताया गया है कि फ्यूचर्स अनुबंध कैसे काम करते हैं:

— एक फ्यूचर्स अनुबंध दोनों पक्षों के बीच एक समझौता है जो भविष्य की तारीख पर एक संपत्ति को खरीदने या बेचने के लिए दोनों द्वारा सहमत मूल्य पर होता है।

— ये फ्यूचर्स अनुबंध मानकीकृत समझौते हैं और भुगतान व साथ ही संपत्ति की डिलीवरी निर्दिष्ट तिथि पर की जाती है।

— फ्यूचर्स अनुबंध के द्वारा फ्यूचर्स कारोबार किसी भी संपत्ति के साथ किया जा सकता है जिनका कि एक वित्तीय बाजार में कारोबार किया जाता है। ये स्टॉक, मुद्रा, बांड, कमोडिटी या बाजार सूचकांक हो सकते हैं।

— फ्यूचर्स अनुबंध मूल रूप से उन परिसंपत्तियों की उतार चढ़ाव की कीमतों से लाभ प्राप्त करते हैं, जिनमें उनका निवेश किया जा रहा है। ये प्रकृति में डेरिवेटिव हैं, जिसका अर्थ है कि उनका मूल्य केवल कारोबार की जा रही परिसंपत्ति द्वारा निर्धारित किया जाता है।

— एक कारोबारी संपत्ति प्राप्त करने की इच्छा नहीं भी कर सकता है और एक अनुकूल अवसर पर इसे बेचने के इरादे से उसका मालिक बन सकता है। इन फ्यूचर्स अनुबंधों के साथ, कारोबारियों ने स्वतंत्र रूप से ‘कम में खरीदें, अधिक पर बेचें’ के सिद्धांत का अनुसरण किया है।

— फ्यूचर्स अनुबंधों का कारोबार बहुत से खिलाड़ियों के बीच किया जा सकता है। अधिकांश भाग के लिए, हालांकि, बड़े पैमाने पर इनका कारोबार लोगों के दो समूहों द्वारा किया जा रहा है:

हेजर्स: जैसे बैंक, कंपनियां और कमोडिटी के निर्माता जो उतार-चढ़ाव की कीमतों के प्रभाव से अपने कारोबार की रक्षा करना चाहते हैं।

सट्टेबाज: जैसे कि कारोबारी और निजी निवेशक, जो लाभ बनाने का लक्ष्य रखते हैं।

फ्यूचर्स कारोबार के लाभ

फ्यूचर्स में कारोबार को अधिकांश के लिए बेहतर माना जाता है, इसके कई कारण हैं। फ्यूचर्स कारोबार के कुछ सबसे महत्वपूर्ण लाभ यहां दिए गए हैं:

उच्च प्रभावन क्षमता: कारोबारी मार्जिन के रूप में अनुबंध के मूल्य के केवल एक छोटा से अंश का भुगतान करके एक फ्यूचर्स अनुबंध खरीद सकते हैं। यदि बाजार की स्थिति अनुकूल है, तो वे काफी मुनाफे का आनंद ले सकता है।

लिक्विडिटी: फ्यूचर्स कारोबार की उच्च संख्या का कारोबार दैनिक आधार पर होने के कारण, फ्यूचर्स बाजार प्रकृति में अत्यंत लिक्विड है। बाजार में खरीदारों और विक्रेताओं का निरंतर प्रवाह होता है जो बाजार को आसानी से और जल्दी से प्रवाहित होने वाला बना देता है ।

लागत प्रभावी: कारोबार के अन्य रूपों की तुलना में, फ्यूचर्स कारोबार के लिए कमीशन फीस अपेक्षाकृत कम है। यह कारोबारी के लाभ को बहुत अधिकतम करने में मदद करता है।

विविधीकरण: फ्यूचर्स कारोबार के साथ, कारोबारियों को कारोबार करने के लिए विभिन्न प्रकार की संपत्तियां मिलती हैं। स्टॉक, कमोडिटी, मुद्राएं तथा और भी बहुत से परिसंपत्ति वर्गों के साथ काम करने के दौरान फ्यूचर्स अनुबंध उपलब्ध हैं। इससे कारोबारियों को अपने निवेश में विविधता लाने और जोखिम प्रबंधिन करने में मदद मिलती है।

कारोबार के लिए आसान प्रवेश: फ्यूचर्स कारोबार एक लोकप्रिय विकल्प भी है क्योंकि इन्हें एक्सेस करना आसान है तथी ये कारोबार की दुनिया में आसान प्रवेश हैं। आप सभी को जरूरत है तो बस कुछ पूंजी, एक इंटरनेट कनेक्शन और एक विश्वसनीय ब्रोकर की।

फ्यूचर्स कारोबार कैसे शुरू करें

फ्यूचर्स कारोबार में उद्यम करने की तलाश कर रहे एक कारोबारी के लिए, आगे का रास्ता सरल और आसानी से सुलभ है। यहां बताया गया है कि आप फ्यूचर्स में कारोबार कैसे शुरू कर सकते हैं:

— अपने पूंजी निवेश, जोखिम भूख का उचित विचार प्राप्त करें और फ्यूचर्स अनुबंध में जाने से पहले उचित रणनीति विकसित करें

— अपनी रणनीतियों पर कार्य करें और उन्हें डेमो या परीक्षण कारोबार खाते से परिष्कृत करें। यह आपको आभासी पैसे में कारोबार करने और अपने कारोबार कौशल को बेहतर विकसित करने की अनुमति देगा।

— एक ट्रेडिंग खाता खोलें, अच्छा होगा कि यह एक सम्मानित ब्रोकरेज फर्म के साथ हो। इसके बाद ये आपको संबंधित एक्सचेंजों से संबंधित करेंगे, जैसे कि बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज या नेशनल स्टॉक एक्सचेंज, और कारोबार शुरू करें।

निष्कर्ष

इसका उपयोग और कई अन्य लाभों की सहजता के कारण, फ्यूचर्स कारोबार कई कारोबारियों के लिए डिफ़ॉल्ट कारोबार विधि है। सभी निवेशों के साथ, फ्यूचर्स कारोबार में जाने से पहले, अपने उचित हिस्से का शोध करना महत्वपूर्ण है। क्योंकि फ्यूचर्स अनुबंध में कारोबार कर रहे किसी व्यक्ति के लिए, सही कारोबार रणनीतियों के विकास पर काम करना आवश्यक है। इसके लिए समय, धैर्य और परीक्षण करके गलतियां करने की आवश्यकता है।

एंजेल ब्रोकिंग कारोबारियों को नई रणनीतियों के विकास के अभ्यास के लिए एक परीक्षण ट्रेडिंग खाता प्रदान करती है। यह आरंभ करने में मदद करने के लिए तकनीक सक्षम डीएमएटी और ट्रेडिंग खाते के साथ-साथ तकनीकी और मौलिक अनुसंधान मार्गदर्शन जैसे कई सुविधाएं भी प्रदान करती है।