परिचय

फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग कई निवेश तरीकों में से एक है जिसके साथ आप अपने निवेश पोर्टफोलियो में विविधता लाने के लिए आगे बढ़ सकते हैं। कई लोगों के लिए, एक फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग बिज़नेस उनके आय का प्राथमिक साधन भी हो सकता है। पैसा बनाने का एक आकर्षक साधन माने जाने वाले, फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग बिज़नेस, या ऑनलाइन फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग विभिन्न मुद्राओं को खरीदने या परिवर्तित करने की प्रक्रिया है। हालांकि यह निवेश बाजार के बाहर विभिन्न कारणों से होता है जैसे विदेशी ट्रेड करना या जब आप छुट्टियों के लिए किसी दूसरे देश की यात्रा करते हैं, तो मुद्राओं की अस्थिर प्रकृति को देखते हुए जो ना चाहते हुए भी दुनिया की घटनाओं पर निर्भर हैं, निवेशकों ने फ़ॉरेक्स बाजार में भी कीमतों के उतार चढ़ाव को भुनाने का अवसर जल्दी ही देख लिया। फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग स्टॉक खरीदने और बेचने से बहुत अलग नहीं है, जिसमें उच्च रिटर्न के लिए इसे बेचने के प्रयास में कम कीमत के लिए एक वस्तु की खरीद की बुनियादी अवधारणा अभी भी लागू होती है। यहां अंतर केवल यह है कि किसी कंपनी के स्टॉक के बजाय, आप मुद्राओं का ट्रेड कर रहे हैं।

उदाहरण के लिए, मान लीजिए कि आपके पास 50,000 भारतीय रुपये हैं। जो लगभग 689.6 डॉलर के बराबर है, जब एक डॉलर 72.5 भारतीय रुपए के बराबर हो। जब आप अपने 50,000 रुपए को 689.6 डॉलर में परिवर्तित करते हैं, तो असल में अपने पैसों से उतने डॉलर को खरीद रहे हैं। फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग बिज़नेस में होते हुए, कीमत के बढ़ जाने पर आप अपने डॉलर बेचने की सोच सकते हैं। अभी 73.5 रुपये का मूल्य होने पर यदि डॉलर 1 बिन्दु से बढ़ जाता है,  तो आपका 50,000 रुपये का प्रारंभिक निवेश अब 50,688 रुपये का है, जिससे आपको 688 रुपये का रिटर्न मिल जाएगा।

ऑनलाइन फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग और स्टॉक ट्रेडिंग के बीच एक और अंतर यह है कि फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग बिज़नेस किसी भी दिए गए एक्सचेंज के साथ सौदा नहीं करते हैं। बल्कि, मुद्राओं के व्यापार के लिए OTC इलेक्ट्रॉनिक ट्रेड को उप्योग४ में लायाजाता है, जिसमें ज़्यूरिख, न्यूयॉर्क, टोक्यो और हांगकांग जैसे प्रमुख वित्तीय क्षेत्रों में मुद्राओं का ट्रेड किया जाता है। इसके अतिरिक्त, फ़ॉरेक्स बाजार सप्ताह में 24/7, साढ़े पांच दिन खुले होते हैं।

फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग के ये पहलू उन्हें उन लोगों के लिए आकर्षक बनाते हैं घर बैठे एक फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं। इस लेख में, हम सिलसिलेवार आपको यह बताएंगे कि आप घर बैठे फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग बिज़नेस कैसे शुरू कर सकते हैं, और वे अलग-अलग टिप्स और तरीके भी बताएंगे जो आपके काम आ सकते हैं।

घर बैठे फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग

ज़्यादातर बाकि वस्तुओं की ट्रेडिंग की तरह, फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग भी पूरी तरह से डिजीटल कर दिया गया है, जिससे घर बैठे आराम से ऑनलाइन फोर्ज ट्रेडिंग की जा सकती है।

  1. फ़ॉरेक्स ब्रोकर

घर बैठे फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग शुरू करने के लिए आपको एक फ़ॉरेक्स ब्रोकर की आवश्यकता होगी। जैसा कि नाम से पता चलता है, ये डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स (DP) हैं जो आपको फ़ॉरेक्स बाजारों के साथ तालमेल बैठाने में सक्षम बनाता है। भारत में, ऑनलाइन फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग की केवल सेबी में पंजीकृत DP के माध्यम से ही अनुमति है। स्टॉकब्रोकर्स की तरह, दो मुख्य तरह के फ़ॉरेक्स ब्रोकर हैं; डिस्काउंट फ़ॉरेक्स ब्रोकर जो आपको फ़ॉरेक्स बाजारों का उपयोग करने में सक्षम बनाते हैं, और पारंपरिक फ़ॉरेक्स ब्रोकर, जो बाजार विश्लेषण, टिप्स और शोध संकेतों के साथ-साथ अधिक पूर्ण सेवा प्रदान करते हैं। आपकी आवश्यकताओं के अनुसार, आपको घर बैठे फ़ॉरेक्स ट्रेड शुरू करने के लिए एक फ़ॉरेक्स ट्रेडर चुनना होगा।

अब जब आप उन टूल्स से लैस हैं जिनकी आपको ट्रेड करने के लिए आवश्यकता है, घर बैठे फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग बिज़नेस शुरू करने से पहले आप इन टिप्स का पालन करना चाहेंगे।

  1. अपना निवेश पूल चुनें

जैसा कि किसी भी निवेश में होता है, आप फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग के लिए धन की एक निश्चित राशि आवंटित कर सकते हैं। ऑनलाइन फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग करते समय फ़ॉरेक्स ट्रेडर्स को ब्रोकरों के द्वारा मार्जिन के लाभ की पेशकश की जाती है। इसका मतलब यह है कि आपका ब्रोकर आपको अपनी निवेश राशि (5x, 10x) का एक निश्चित मल्टीप्लायर देता है जिसे आप फिर ट्रेड करनेऔर छोटे प्रतिशत से अपने लाभ को बढ़ाने के लिए उपयोग में ला सकते हैं । इसका मतलब यह है कि आपको फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग शुरू करने के लिए पैसे की एक बड़ी रकम की आवश्यकता नहीं पड़ सकती है। हालांकि, जब तक आपके पास बाजार के बारे में अच्छा-ख़ासा ज्ञान और समझ न हो, तब तक हमेशा मार्जिन के साथ ट्रेड करने से सावधान रहना चाहिए, क्योंकि जोखिम पूरी तरह से निवेशक पर रहता है, और ब्रोकर को उनकी रकम वापस करनी होगी चाहे आपने लाभ कमाया हो या हानि।

  1. एक डेमो खाता

यदि आप पहली बार ऑनलाइन फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग बाजार में आ रहे हैं और सिर्फ यह पता करना चाहते हैं कि बाजार कैसे काम करता है और अपने ज्ञान को बढ़ाने के बारे में सोच रहे हैं, इससे पहले कि आप अपना फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग बिज़नेस शुरू करें, आप एक डेमो खाते के साथ शुरू करना चाहेंगे। एक प्रकार का परीक्षण, एक डेमो खाता निवेशकों को वास्तविक पूंजी निवेश करने से पहले, अपने कौशल का परीक्षण करने और बाजारों को जानने के लिए ‘नकली’ पैसे के साथ ट्रेड करने की अनुमति देता है। एक डेमो खाते के साथ ऑनलाइन फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग, वास्तविक मुद्रा के साथ ट्रेडिंग शुरू करने से पहले आपको अपनी समझ बढाने में मदद करेगा। ध्यान दें कि डेमो खाते केवल कुछ समय के लिए उपलब्ध होते हैं।

  1. अपना ज्ञान आधार बढाएं

जैसा कि पहले बताया गया है, फ़ॉरेक्स बाजार अक्सर वैश्विक घटनाओं और संबंधों से प्रभावित होते हैं। इस स्थिति में, जबकि बाजार की तकनीकी समझ महत्वपूर्ण है, यह उतना ही महत्वपूर्ण है कि कोई खुद को वर्तमान घटनाओं, विश्व समाचार और विभिन्न अन्य बुनियादी सूचना स्रोतों के साथ अवगत रखे जो आपको यह अंदाजा लगाने में मदद कर सकता है कि कीमतों में उतार-चढ़ाव कैसे होगा।

निष्कर्ष

कोविड 19 लॉकडाउन को देखते हुए, हम में से कई लोग अपनी पूंजी बढ़ाने के लिए निवेश के रास्ते की तलाश में हैं, ताकि हमारी संपत्ति बढ़ सके या महामारी और बाद में लॉकडाउन से हुए नुकसान की भरपाई हो सके। फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग ऐसे ही एक अवसर प्रदान करती है जहां लोग रिटर्न्स बनाने के लिए मुद्राओं को उसी तरह से खरीदते और बेचते हैं जैसा कि वे स्टॉक करते हैं। बाजार के पूरी तरह से डिजीटल होने के कारण, अपने पोर्टफोलियो में विविधता लाने की प्रक्रिया में एक और निवेश का तरीका जोड़ने के साथ अब आप आराम से घर बैठे फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग शुरू कर सकते हैं। जबकि व्यापार का मूल एक जैसा ही रहता है, फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग निवेश की एक पूरी तरह से अलग ही दुनिया है, और यहां तक कि यदि आप एक माहिर स्टॉक निवेशक हैं जो ऑनलाइन फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग में अपना पूरा ध्यान लगाना चाहता है, तो फ़ॉरेक्स बाजारों पर अपना संपूर्ण शोध करने और वास्तविक पैसा निवेश करने और घर बैठे फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग शुरू करने से पहले डेमो खाते से अभ्यास करने से लाभ हो सकता है।