वरिष्ठ नागरिक बचत योजना वरिष्ठ नागरिकों के लाभ के लिए सरकार द्वारा चलाई एक बचत योजना है। यह योजना 2004 में शुरू की गई थी, और इसका प्राथमिक लक्ष्य सेवानिवृत्त व्यक्तियों को यह सुनिश्चित करके वित्तीय सहायता देना है कि उनके पास नियमित आय प्रवाह है। यह वरिष्ठ नागरिकों को उच्च सुरक्षा और कर-बचत लाभ भी प्रदान करता है। पूरे भारत में विभिन्न बैंक और डाकघर इस योजना को संचालित करते हैं।

वित्तीय वर्ष 2019-2020 की अंतिम तिमाही (जनवरी से मार्च) में एससीएसएस खाते पर दी जाने वाली ब्याज की वर्तमान दर प्रति वर्ष 8.6% है। ब्याज की दर समय-समय पर परिवर्तन के अधीन है और वित्त मंत्रालय द्वारा हर तीन महीने में संशोधित की जाती है। एससीएसएस खाते में राशि पर ब्याज की गणना और त्रैमासिक प्राप्त किया जाता है।

एससीएसएस का लाभ उठाने के लिए कौन योग्य है?

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना का लाभ उठाने के लिए निम्नलिखित मानदंडों को पूरा किया जाना चाहिए।

1.व्यक्ति, भारत का नागरिक होना चाहिए। गैर-आवासीय भारतीय और भारतीय मूल के व्यक्ति इस योजना से लाभ प्राप्त करने के योग्य नहीं हैं। हिंदू अविभाजित परिवार के सदस्य भी इसके लिए योग्यता नहीं रखते हैं।

2.चूंकि यह वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक बचत योजना है, इसलिए 6o वर्ष या उससे अधिक आयु का कोई भी भारतीय नागरिक इसके लिए योग्य है। लेकिन, कुछ मामलों में आयु सीमा में छूट दी गई है-

क) यदि किसी व्यक्ति ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (VRS) या सुपरएन्यूएशन का विकल्प चुना है, और वह 55-60 आयु वर्ग में है, तो रिटायर व्यक्ति इस योजना का लाभ उठा सकता है यदि उसने सेवानिवृत्ति के भत्ते के एक महीने के भीतर आवेदन किया हो।

1.यदि सेवानिवृत्त रक्षा कर्मचारी अन्य शर्तों को पूरा करते हैं, तो वे इस योजना का लाभ उठाने के योग्य हैं। इस मामले में कोई आयु सीमा नहीं है।

एससीएसएस योजना के लिए जमा सीमाएं

एससीएसएस खाता खोलने के लिए आपको 1000 रुपये की न्यूनतम राशि जमा करवानी होगी I  उससे अधिक जमा कराने पर, राशि को 1000 रुपये के गुणकों में जमा किया जाना चाहिए। आप अपने एससीएसएस खाते में 15 लाख रुपये तक की अधिकतम राशि जमा करवा सकते हैं I 

आप अपने एससीएसएस खाते में नकद पैसा जमा कर सकते हैं। नकद जमा कराने में 1 लाख रुपये से कम की राशि ही जमा हो सकती है। इससे अधिक राशि जमा करवाने के लिए आपको राशि  चेक या डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से जमा करवानी होगी I 

एससीएसएस खाता कैसे खोले

जैसा कि पहले भी बताया गया है कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक और डाकघर वरिष्ठ नागरिक बचत योजना खाता खोलने की सुविधा प्रदान करते हैं।

डाकघर में एससीएसएस खाता खोलना

एससीएसएस खाता भारत के सभी डाकघरों में खोला जा सकता है। आपको जिस डाकघर में खाता खोलते हैं, उससे एक बचत खाते को लिंक करना होगा ताकि आपके द्वारा अर्जित ब्याज स्वत: जमा किया जा सके। भारतीय डाक की विशाल पहुंच यह सुनिश्चित करती है कि देश भर में भारतीयों के लिए एससीएसएस खाते खोलने का विकल्प सुलभ हो।

बैंक में एससीएसएस खाता खोलना

डाकघरों के अलावा, चयनित सार्वजनिक या निजी क्षेत्र के बैंक ग्राहकों को वरिष्ठ नागरिक बचत योजना खाता खोलने का अवसर प्रदान करते हैं। इन अधिकृत बैंकों में एससीएसएस खाता खोलने से निम्नलिखित लाभ प्राप्त होते है-

1.जमा होने वाला ब्याज सीधे उस बैंक शाखा में खुले जमाकर्ता के बचत खाते में जमा की जाएगी I 

2.मानक खाता लेखाजोखा, पोस्ट या ईमेल के माध्यम से जमाकर्ता को भेजा जाएगा।

3.फोन बैंकिंग सेवाएं 24 घंटे ग्राहक सेवा प्रदान करती हैं I 

यदि आप एक वरिष्ठ नागरिक हैं और बैंक में एससीएसएस पंजीकरण पूरा करना चाहते हैं, तो खाता खोलने की प्रक्रिया है जिसका आपको पालन करना होगा।

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना के लिए आवेदन पत्र भरना

वर्तमान में, एससीएसएस खाता ऑनलाइन खोलने का विकल्प उपलब्ध नहीं है। तो, आप फॉर्म डाउनलोड करके, प्रिंट ले सकते हैं और इसे भर सकते हैं। फिर आप आवश्यक दस्तावेजों के साथ डाकघर या बैंक में भरे हुए फॉर्म को जमा करवा सकते हैं।

आपको अपना खाता खोलने के समय आवेदन पत्र में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध करने की आवश्यकता है। निम्नलिखित विवरण भरें-

1.आवेदक का नाम और पैन

2.प्राथमिक आवेदक के पिता/माता/पति/पत्नी का नाम

3.यदि आप अपने पति/पत्नी के साथ संयुक्त एससीएसएस खाता खोलना चाहते हैं, तो आपके पति/पत्नी के नाम, आयु और पते को का विवरण देना होगा I 

4.यदि आप चेक या डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से राशि जमा कर रहे हैं, तो इसके विवरण का उल्लेख करना होगा।

5.नामांकित व्यक्ति का नाम, आयु और पता I एक से अधिक नामांकित व्यक्ति हैं, तो आपको उनमें से प्रत्येक के व्यक्तिगत हिस्से को निर्दिष्ट करने की आवश्यकता है।

क्या आप समय से पहले एससीएसएस खाता में जमा राशि वापस ले सकते हैं?

खाता खोलते समय जमा कराई राशि 5 वर्ष या उसके बाद या खाता खोलने की तारीख गणना के अनुसार खाता अवधि बढाए जाने पर 8 वर्ष के बाद देय होती है I यदि आप समय से पहले राशि निकालना चाहते हैं, तो आपको ऐसा करने की अनुमति होती है, लेकिन इस पर जुर्माना लागू होता है। जुर्माना की गणना खाता खोलने और वापसी की तारीख के बीच के समय पर की जाती है।

  1. 2 वर्ष से पूरा होने से पहले खाता बंद करवाने पर, जमा राशि में से 1.5 % का जुर्माना काट लिया जाता है I 
  2. इसके बाद या 5 वर्ष से पहले खाता बंद करवाने पर, जमा राशि में से 1 % का जुर्माना काट लिया जाता है I 

एससीएसएस में निवेश के लाभ

एससीएसएस योजना वरिष्ठ नागरिकों को कुछ निश्चित लाभ प्रदान करती हैं-

1.चूंकि एससीएसएस एक सरकारी योजना है, इसलिए यह सरकार समर्थित कार्यक्रमों से जुड़े सभी सुरक्षा और प्रतिभूति से पूर्ण है।

2.वर्तमान में, वर्तमान ब्याज दर सालाना 6% है, जो काफी अधिक है। इसलिए, इससे बहुत अधिक रिटर्न प्राप्त होती है जो कि सेक्टर 80 सी के अधीन कर-बचत घटकों की अधिकता है I  

3.चूंकि परिपक्वता अवधि दीर्घ है और इसे आगे भी बढ़ाया जा सकता है, इसलिए यह वरिष्ठ नागरिकों को दीर्घकालिक निवेश योजना के रूप में रखने के लिए प्रोत्साहित करता है जो उन्हें आर्थिक रूप से सुरक्षित रखता है।

4.वरिष्ठ नागरिक कर बचत योजना में आपके द्वारा किए गए निवेश 1961 आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत, किसी भी वित्तीय वर्ष में 1.5 लाख रुपये तक की कर कटौती के अधीन हैं।

5.चूंकि आप 1000 से 15 लाख रुपये (1000 रुपये के गुणकों में) के बीच कितनी भी राशि का निवेश कर सकते हैं, इसलिए यह आपको बहुत सुलभता प्रदान करता है। लेकिन, आप केवल एक बार ही एकमुश्त निवेश कर सकते हैं।

6.आपात स्थिति में, आपके पास लागू जुर्माना कटौती के बाद समय से पहले वापसी करने का विकल्प होता है।

7.यह योजना बहुत व्यापक रूप से उपलब्ध है, इस प्रकार इसे देशभर के नागरिकों के लिए सुलभ बनाया जा रहा है।

8.आप अपने पति या पत्नी के साथ संयुक्त एससीएसएस खाता भी खोल सकते हैं। इसमें भी आप 15 लाख रुपये तक की अधिकतम राशि जमा करवा सकते है, और संयुक्त खाते केवल पति या पत्नी के साथ के साथ ही खोले जा सकते हैं । संयुक्त एससीएसएस खाते के मामले में, यह आवश्यक है कि पहले जमाकर्ता की आयु 60 वर्ष से ऊपर हो। यह नियम दूसरे आवेदक पर लागू नहीं होता है।

9.आप एक या अधिक प्रत्याशियों का भी चयन कर सकते हैं। आपके द्वारा किए गए नामांकन को भी बदला या रद्द किया जा सकता है।

निष्कर्ष

एससीएसएस योजना 60 वर्ष से ऊपर के नागरिकों के लिए पैसा बनाने और कर बचाने के लिए एक बेहतरीन अवसर है। यह दीर्घकालिक, सुरक्षित और प्रभावी बचत समाधान प्रदान करता है। चूंकि सरकार इसे प्रायोजित करती है, इसलिए इसमें ऐसी योजनाओं से जुड़े अतिरिक्त भत्ते भी शामिल होते है। यह आदर्श वरिष्ठ नागरिक कर बचत योजना और निवेश का सही विकल्प है। वरिष्ठ नागरिक बचत योजना आपको भविष्य को और अधिक सुरक्षित बनाने में मदद करेगी।