यदि आप इस ब्लॉग को पढ़ रहे हैं, तो आप पहले से ही जानते होंगे कि डीमैट खाता क्या है और यह क्यों महत्वपूर्ण है? यदि आप परिचित नहीं हैं, तो बचत बैंक खाता एक साधारण माध्यम प्रदान करता है। बचत बैंक खाते में आप अपना नकद रखते हैं और यदि आप नकद वापस लेते हैं या अपने बचत खाते से भुगतान करते हैं, तो नकद डेबिट कर दिया जाता है। इसी तरह, आपको शेयरों या अन्य शेयर को इलेक्ट्रॉनिक रूप से रखने के लिए एक डीमैट  खाते की आवश्यकता है। यदि आप शेयर को बेचते हैं, तो इसे आपके डीमैट खाते से डेबिट कर दिया जाता है, यदि आप उन्हें खरीदते हैं, तो यह आपके डीमैट  खाते में क्रेडिट कर किया जाता है।

डीमैट खाता खोलना क्यों आवश्यक है? 

यह इसलिए, क्योंकि आप किसी बिना डीमैट खाते के शेयर को खरीद या बेच नहीं सकते हैं। इस प्रकार आपको इक्विटी, डेरिवेटिव, एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ITF), बॉन्ड और डिबेंचर में निवेश या व्यापार करने के लिए एक डीमैट खाता की आवश्यकता होती है। म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए आपको डीमैट खाता की ज़रूरत नहीं होती है लेकिन आप अपनी म्यूचुअल फंड यूनिट्स को डीमैट खाता में भी रख सकते हैं।

डीमैट खाता कैसे खोलते हैं ?

सबसे पहले आपको एक विश्वसनीय सेबीपंजीकृत ब्रोकर से संपर्क करना चाहिये। डीमैट खाता खोलने की प्रक्रिया काफ़ी सरल और आसान है। इसके लिए आपको केवाईसी के माध्यम से कुछ दस्तावेज जमा करना और न्यूनतम पात्रता आवश्यकताओं को पूरा करना होता है। हालांकि, इससे पहले कि आप एक डीमैट खाता खोलें, आपको कुछ महत्वपूर्ण चीजों की जानकारी होना अतिआवश्यक है

तो आइये, एक डीमैट खाता खोलने से पहले अपने ब्रोकर या ब्रोकिंग सेवा के बारे में जांच करना चाहिए। इसके लिए आपको इन पांच महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना चाहिए।

ब्रोकरेज के प्रकार 

भारत में जब आप सर्वश्रेष्ठ ब्रोकर को ढूढना शुरू करते हैं, तो आपको याद रखना होगा कि भारत में दो प्रकार के ब्रोकरेज फर्म हैं। डिस्काउंट ब्रोकर और पूर्ण-सेवा ब्रोकर। डिस्काउंट ब्रोकरेज हाउस आपके निर्देशों को पूरा करेगा और आपको इक्विटी और डेरिवेटिव ट्रेडिंग सेवाएं प्रदान करने में मदद करेगा। 

दूसरी ओर, एक पूर्ण सेवा ब्रोकर म्यूचुअल फंड, इक्विटी, विकल्प, वायदा, वस्तुओं, मुद्रा, आईपीओ और अधिक में निर्बाध व्यापार और निवेश के अवसर प्रदान करता है। ये पोर्टफोलियो प्रबंधन और सलाहकार सेवाएं भी प्रदान करते हैं, साथ ही विस्तृत मौलिक और तकनीकी शोध की रिपोर्ट भी प्रदान करते हैं।

एंजेल ब्रोकिंग भारत के सबसे बड़े पूर्णसेवा वाले खुदरा ब्रोकिंग हाउसों में से एक है एंजेल ब्रोकिंग विभिन्न बाजार खंडों में सफल होने के लिए विस्तृत शोध रिपोर्ट के साथ ग्राहकों की सहायता करने के लिए एक समर्पित शोध टीम है।

ब्रोकरेज शुल्क और लेनदेन शुल्क

भारत में ब्रोकरों के बीच डीमैट खाता खोलने और ब्रोकरेज शुल्क अलग-अलग हैं। जबकि उनमें से अधिकांश आजकल मुफ्त डीमैट खाते खोल रहे हैं। वे इक्विटी खरीदने और बेचने पर आपसे लेनदेन शुल्क ले सकते हैं। खाता खोलने की फीस के अलावा, वार्षिक रखरखाव शुल्क और लेनदेन शुल्क की भी जांच करें कि आपका डीमैट खाता आपको कितना लागत दे रहा है। 

लेनदेन शुल्क वह है जिसके बारे में आपको सावधान रहना चाहिए। क्योंकि यह ब्रोकरों के बीच काफी बड़ा अंतर हो सकता है। भारत में सबसे अच्छे ब्रोकरों में से एक एन्जिल ब्रोकिंग के साथ डिमैट खाता खोलना मुफ़्त है। आप शून्य लागत पर जीवन भर के लिए इक्विटी डिलीवरी ट्रेडों को रख सकते हैं। जबकि इंट्राडे ट्रेडों की लागत केवल 20 रुपये है, जो किसी भी उद्योग में सबसे कम है।

सरल और तेज़

एक डीमैटखाता खोलने की प्रक्रिया लंबी और बोझिल नहीं होना चाहिए। सेबी के द्वारा डीमैट खाता खोलने के तरीके पर विस्तृत दिशानिर्देश हैं लेकिन आपका ब्रोकर के माध्यम से डीमैट खाता खोलने की प्रक्रिया प्रक्रिया और भी आसान और भी छोटा होना चाहिए।

भारत में सबसे अच्छे ब्रोकरो ने डीमैट खाता खोलने की प्रक्रिया को पूरी तरह से डिजिटल प्लेटफॉर्म पर ले गया है। आपके ब्रोकर को ऑनलाइन संपूर्ण केवाईसी, सत्यापन और दस्तावेज़ीकरण प्रक्रिया को पूरा करने में सक्षम होना चाहिए। सेबी के दिशानिर्देशों के अनुसार आत्मपहचान कार्य वास्तविक समय में ऑनलाइन वीडियो के माध्यम से ही किया जाना चाहिए। अपने ब्रोकर से पूछें कि आप एक डीमैट खाता खोलने के बाद कितनी जल्दी ट्रेडिंग शुरू कर सकते हैं, जितनी जल्दी होगा उतना ही आपके लिए बेहतर होगा।

निर्बाध संचालन

इक्विटी और डेरिवेटिव में ट्रेडिंग में निरंतर प्रक्रिया होती रहनी चाहिए। क्योंकि एक सेकंड की देरी भी लाभ और हानि के बीच अंतर कर सकती है। आपके लिए यह सबसे अच्छा है यदि आपका ब्रोकर 2-इन-1 डीमैट और ट्रेडिंग खाता आपको देता हैं। जिससे आप दो अलग-अलग ब्रोकरों के होने पर लेनदेन में देरी से बच सकें।

एंजेल ब्रोकिंग का 2-इन-1 डीमैट और ट्रेडिंग खाता आपको इक्विटी, आईपीओ, वस्तुओं, मुद्राओं, डेरिवेटिव और म्यूचुअल फंड में निर्बाध रूप से व्यापार और निवेश करने की अनुमति देता है।

यदि आप उन निवेशकों और व्यापारियों में से हैं जो चीजों पर एक टैब रखना चाहते हैं, तो आप यह सुनिश्चित करें कि आपके ब्रोकर के पास ऑनगो ट्रेडिंग, निवेश, निगरानी और ट्रैकिंग के लिए मोबाइल ऐप है।

व्यापार मंच (ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म)

सही व्यापार मंच होना अत्यंत महत्वपूर्ण है खासकर यदि आप इंट्राडे ट्रेडिंग में जाना चाहते हैं। इसके लिए, सबसे पहले आपको अच्छे व्यापार मंच के साथ एक ब्रोकर को चुनना चाहिए। आज, वेबआधारित और डेस्कटॉप और मोबाइल ऐप ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म ज्यादा लोकप्रिय हो रहे हैं, क्योंकि वे तेज़, कुशल और सरलीकृत हैं। पहले आप ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर कुछ शोध करें, जो आपका ब्रोकर उपयोग कर रहा है। वे स्थिर, विश्वसनीय और बगमुक्त होना चाहिए।

एंजेल ब्रोकिंग अपने क्लाइंट्स को तीन तरह के ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म प्रदान करता है जैसे एंजेल ब्रोकिंग ट्रेड, एंजेल ब्रोकिंग ऐप और स्पीडप्रो डेस्कटॉप ट्रेडिंग सॉफ्टवेयर। ये पुरस्कार विजेता ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म अपनी सादगी, गति और स्थिरता के लिए जाने जाते हैं। 

एक डीमैट खाता खोलने से पहले, इन महत्वपूर्ण बिंदुओं को ध्यान में रखें। तभी आप निश्चित रूप से सही निर्णय लें सकते हैं। हालांकि, निष्क्रियता के लिए सावधानी बरतें। जल्द ही कार्य करें और आज ही एक डीमैट और ट्रेडिंग खाता खोलें। भारत के बड़े वित्तीय बाजार से धन कमाने की दिशा में अपना पहला कदम बढ़ाये।