जब आप अपने डीमैट खाते का उपयोग करके शेयर खरीदते हैं,और आपका उन्हें उसी दिन बेचने का इरादा नहीं होता है, तो उन्हें आपकी होल्डिंग्स के तौर पर जाना जाता है। ऑनलाइन ट्रेडिंग के आगमन से पहले, शेयर भौतिक रूप में रखे जाते थे। ऑनलाइन डीमैट खातों के साथ, शेयरों को गैर-कागजी या अभौतिकीकृत रूप में रखा जाता है, डीमैट होल्डिंग स्टेटमेंट आपके द्वारा रखे गए सभी शेयरों का विवरण उसी प्रकार देता है, जैसे बैंक स्टेटमेंट आपके बैंक खाते में परिसंपत्तियों के बारे में बताता है।

डीमैट खाता होल्डिंग स्टेटमेंट को समझना

ऑनलाइन शेयरों को खरीदने और बेचने में सक्षम होने के लिए आपको डिपॉजिटरी प्रतिभागी या डीपी के साथ डीमैट खाता खोलना होगा। डीपी एक केंद्रीय डिपॉजिटरी-या तो सीएसडीएल या एनएसडीएल के साथ पंजीकृत होते हैं,जो सभी डीमैट लेनदेनों का रिकॉर्ड रखते हैं। डीपी ग्राहक और स्टॉक एक्सचेंज के बीच मध्यस्थ की भूमिका को पूरा करने वाले ब्रोकरों के रूप में भी कार्य करते हैं।तो हर बार जब भी आप खरीद आर्डर देते हैं तो क्या होता है? हालांकि यह खरीद बटन पर क्लिक करने जैसी साधारण पर्याप्त बात की तरह लगता है, परंतु इसकी प्रक्रिया वास्तव में जटिल है, जो कई दिनों और कई चरणों के माध्यम से सामने आती है।

  1. शेयरों को सबसे पहले,डीपी के पूल खाते में स्थानांतरित किया जाता है और वहां से उन्हें ग्राहक के खाते में स्थानांतरित किया जाता है। यह प्रक्रिया आमतौर पर T+2 व्यावसायिक दिनों के भीतर पूरी होती है जहां T वह दिन है, जब लेनदेन शुरू किया गया था।
  2. धनराशियों को डीमैट अकाउंट से जुड़े आपके बैंक खाते से चुकाया जाएगा, जिसका मतलब यह है कि आपके बैंक खाते में लेन-देन के लिए भुगतान करने के लिए पर्याप्त धनराशि होनी चाहिए।
  3. अंततः,शेयरों को आपके डीमैट खाते में स्थानांतरित दिया जाता है। जब आप शेयरों को अपने खातों में एक से अधिक दिन के लिए रखते हैं, वे होल्डिंग्स के रूप में दिखाई पड़ना शुरू हो जाते हैं। दूसरी ओर, यदि आप उन्हें उसी दिन में बेच देते हैं, वे स्थितियों(positions) के रूप में प्रदर्शित होते हैं।

लेकिन आपको यह कैसे पता चलेगा कि शेयरों को वास्तव में आपके खाते में स्थानांतरित कर दिया गया है? यहीं पर डीमैट होल्डिंग स्टेटमेंट की बात आती है। डीमैट अकाउंट होल्डिंग स्टेटमेंट निर्णायक सबूत है कि शेयरों का स्वामित्व आपको स्थानांतरित कर दिया गया है। यद्यपि यह एक स्पष्ट तथ्य की तरह लग सकता है, फिर भी, अक्सर ऐसे मामले होते हैं जहां डीपी शेयरों को क्लाइंट को स्थानांतरित करने के बजाय अपने पूल खाते में बनाए रखते हैं।इसीलिए, आपको अपने डीमैट होल्डिंग स्टेटमेंट पर लगातार निगरानी बनाए रखने की सलाह दी जाती है।डीमैट खाता होल्डिंग स्टेटमेंट आपके पास मौजूद सभी शेयरों, इन्हें खरीदे जाने की तिथियों, इनके वर्तमान मूल्य और अन्य प्रासंगिक विवरणों का विस्तृत खाता है। आपको आपकी संपत्तियों की एक स्पष्ट तस्वीर देने के अलावा, डीमैट होल्डिंग स्टेटमेंट कर उद्देश्यों के लिए भी प्रासंगिक हैं। इसलिए डीमैट होल्डिंग स्टेटमेंट को डाउनलोड करना सीखना आवश्यक है।

डीमैट होल्डिंग स्टेटमेंट कैसे डाउनलोड करें

आप अपने डीमैट होल्डिंग्स स्टेटमेंट को देखने के लिए दो तरीकों का उपयोग कर सकते हैः

  1. सीधे केन्द्रीय डिपॉजिटरी वेबसाइट से

भारत में दो मुख्य केंद्रीय डिपॉजिटरी हैं – सीएसडीएल और एनएसडीएल। आप अपना डीमैट अकाउंट स्टेटमेंट सीधे सीएसडीएल या एनएसडीएल की वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपका डीमैट अकाउंट किस राष्ट्रीय डिपॉजिटरी के साथ पंजीकृत है। एनएसडीएल के साथ पंजीकृत डीमैट खातों में आमतौर पर 14 अंकों की संख्या होती है जबकि सीएसडीएल के साथ पंजीकृत 16 अंकों के होते हैं। बस आवश्यक राष्ट्रीय डिपॉजिटरी की वेबसाइट पर लॉग ऑन करें और अपना डीमैट अकाउंट होल्डिंग स्टेटमेंट देखने के लिए अपना डीमैट नंबर दर्ज करें।

  1. अपने ब्रोकर के ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म का उपयोग करके

जब आप एक ऑनलाइन डीमैट खाता खोलते हैं, तो आपका ब्रोकर आपको एक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म प्रदान करता है जिसका उपयोग करके आप शेयरों की ऑनलाइन खरीद और बिक्री करते हैं। आप इस ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म का उपयोग करके भी अपने डीमैट अकाउंट होल्डिंग स्टेटमेंट को देख सकते हैं। उदाहरण के लिए, एंजेल ब्रोकिंग के मामले में, आपको पहले अपने लॉगइन आईडी और पासवर्ड का उपयोग करके एन्जिल ब्रोकिंग ट्रेडिंग वेबसाइट में लॉग इन करना होगा।फिर, जो डैशबोर्ड खुलता है उस पर, प्रतिभूति होल्डिंग्स पर क्लिक करने के बाद रिपोर्ट्स पर क्लिक करें। इससे आपका डीमैट अकाउंट होल्डिंग स्टेटमेंट खुल जाएगा जिसे आप या तो देख सकते हैं या डाउनलोड कर सकते हैं, जैसा भी आपको उचित लगे। आप उस डीपी के लिए भी इसी प्रक्रिया का पालन कर सकते हैं, जिसके साथ आपका ट्रेडिंग खाता है।

निष्कर्ष

डीमैट अकाउंट होल्डिंग स्टेटमेंट शेयरों की खरीद तिथियों, उनके वर्तमान मूल्य के साथ, आपके द्वारा अपने डीमैट अकाउंट में रखे गए सभी शेयरों का सारांश है। आपके द्वारा खरीदे गए शेयरों को वास्तव में आपके डीमैट अकाउंट में स्थानांन्तरित कर दिया गया है, इसे सुनिश्चित करने के लिए डीमैट अकाउंट होल्डिंग स्टेटमेंट की लगातार निगरानी करना आवश्यक है। यह महत्वपूर्ण है क्योंकि शेयरों के खरीदार तथा विक्रेता के बीच डीपी, डिपॉजिटरी, और स्टॉक एक्सचेंज जैसे कई बिचौलियों हैं और शेयर हस्तांतरण कभी-कभी इन बिचौलियों में से किसी एक के पास फंस सकते हैं। आपका डीमैट खाता होल्डिंग स्टेटमेंट आपके शेयरों के स्वामित्व का निर्णायक प्रमाण है। यह कर उद्देश्यों के लिए भी उपयोगी है। आप अपना डीमैट अकाउंट होल्डिंग स्टेटमेंट सीधे प्रासंगिक राष्ट्रीय डिपॉजिटरी की वेबसाइट से या अपने ब्रोकर के माध्यम से डाउनलोड कर सकते हैं।