What is Public Float ?

Podcast Duration: 5:40
पब्लिक फ्लोट क्या है? नमस्ते दोस्तों ! आपका स्वागत है एंजेल ब्रूकिंग के इस पॉडकास्ट पर। दोस्तों कल मैं अपने कॉलेज के दोस्त रवि के साथ वीडियो काल कर रही थी। हमें लग रहा था की काफी समय हो गया हम मिले नहीं , और अभी जाके मिलने का तो कोई चान्स नहीं है तो वीडियो कॉल पर ही बात कर लेते हैं। रवि मेरे कॉलेज का सबसे पुराना दोस्त है और उसके साथ मैं और मेरे बाकी के दोस्त दिन भर शेर बाज़ार के बारे में चर्चा करते रहते हैं। रवि गणित की एक विलक्षण प्रतिभा है, इसलिए उसके स्टॉक के बारे में विश्लेषण सुनने और सवाल करने में कुछ अलग ही तरह का मज़ा आता था, जो कॉलेज के क्लासरूम में नहीं मिल पाता था। हमारी कॉल पर, एक और दोस्त शंकर ने भी जॉइन किया। लॉकडाउन और घूमने की बात करते- करते हम बचत के बारे में बात करने लगे। और शंकर को एक बड़ा असाधारण सा प्रश्न दिमाग में आया, उसने रवि से पूछा कि सभी मौजूदा शेयर सार्वजनिक तौर पर ट्रेड होते हैं? क्या वो सभी विनिमय के लिए उपलब्ध होते हैं? रवि परेशान हो गया। उसने पूछा उससे क्या फर्क पड़ता है? तब शंकर ने स्पष्ट किया, कि वह जानना चाहता है कि निवेशक किसी कंपनी के सभी शेयर किसी भी समय पर खरीद या बेच सकते हैं। तब रवि ने उसको समझाया। सूचना: इन शेयर को पब्लिक फ्लोट बोलते हैं। तो दोस्तों, क्या आप भी जानना चाहते हैं कि रवि ने शंकर को पब्लिक फ्लोट के बारे में क्या बताया ? मुझे लगता है आप उत्सुक होंगे, तो चलिये देखते हैं। मुझे सारी बातचीत दोबारा से याद करने दीजिए। रवि ने पब्लिक फ्लोट का मतलब फ्लोट शब्द से समझाया- मान लीजिये की एक तालाब में कई सारे टायर्स तैर रहे है, चलिये मान लेते हैं तैरते हुए टायर्स किसी कंपनी के शेयर हैं। अब कल्पना करो कि सारे लोग जो बोट पर बैठे हैं वो निवेशक हैं। अब अगर आपको किसी कंपनी के शेयर खरीदने हैं तो आपको एक निश्चित राशि का भुगतान उस व्यक्ति को करना होगा जो बोट पर उस शेयर का मालिक है । मान लेते हैं कि आपने शेयर को सफलता से खरीद लिया। क्या आपने ध्यान दिया इस प्रक्रिया में क्या हुआ? कुछ मूल्य के शेयर तैर कर आपके पास आ गए। ऐसे ही और भी लोग इस कंपनी के शेयर खरीद सकते हैं। इससे हम पब्लिक फ्लोट के सिद्धान्त को आसानी से समझ सकते हैं। सरल शब्दों में पब्लिक फ्लोट किसी कंपनी के वो शेयर होता हैं जिनको जनता आराम से खरीद-बेच सकती है, कभी भी, अपनी मर्ज़ी से। अब इसमें कुछ तरह के शेयर अपने आप निकाल जाते हैं - जैसे कि - सरकार स्वामित्व वाले शेयर, लॉक-इन शेयर, शेयर जो कंपनी के कर्मचारियों के स्वामित्व में आते हैंऔर कुछ समय के लिए बेचे नहीं जा सकते। मूल रूप से अगर कोई शेयर किसी नियम या फिर महत्वपूर्ण कर के कारण बाज़ार में बेचा नहीं जा सकता, तो वो पब्लिक फ्लोट में शामिल नहीं हो सकता। ठीक है, क्या आप समझ गए? मैं और शंकर भी समझ गए। पर पब्लिक फ्लोट के बारे में कुछ और भी रोचक तथ्य हैं। पब्लिक फ्लोट्स एक कंपनी के लिए फायदा भी कर सकती हैं और नुकसान भी। चलिये इन्हे देखते हैं, दोस्तों फ़ायदा यह है कि पब्लिक फ्लोट किसी कंपनी को एक बड़ी कार्य करने योग्य पूंजी की पहुँच देता है, बाहरी निवेशकों को कंपनी में पैसा लगाने का अधिकार देकर। साथ ही इस पैसे से कंपनियाँ कर्ज़ का भुगतान करके अपना कर्ज़ कम कर सकती हैं। और आखिर में पब्लिक फ्लोट पर कार्य करने से कंपनी के प्रति लोगों का विश्वास बढ़ता है, और मीडिया में ज्यादा तवज्जो मिलती है। तो कौन यह सब नहीं चाहेगा? निम्न तीन चीज़ें- पब्लिक फ्लोट से कंपनी बाज़ार के उतार चढ़ाव स प्रभावित होती हैं। अगर बाज़ार बहुत नीचे है तो कंपनी को उसके कार्य करने की पूंजी की कमी हो सकती है, जिसके चलते मुश्किल दौर में कंपनी को अस्थिरता का सामना करना पड़ सकता है। दूसरा - कंपनी के शेयर में निवेश करने का लाभ निवेशकों को देने के लिए कंपनी को बेहतर तरीके से प्रदर्शन करना होता है। लेकिन इससे कंपनी पर प्रदर्शन का दवाब आ जाता है, जिससे निपटने के लिए कई कंपनियाँ झूठी कमाई और गलत प्रदर्शन रिपोर्ट भी पेश कर चुकी हैं। जिसके बाद उन पर काफी बड़ा जुर्माना लगाया गया। झूठी कमाई और गलत प्रदर्शन रिपोर्ट पेश करके कई कंपनियों ने निवेशकों का भरोसा जीत कर और निवेश को आकर्षित करने की कोशिश की, लेकिन यह हमेशा कंपनी की खिलाफ ही जाता है। इस तरह उनकी साख खराब हो जाती है जिससे बाहर निकालना ऐसी कंपनियों के लिए काफी मुश्किल होता है। निवेश करते समय ऐसी कंपनियों से दूर रहने की सलाह दी जाती है। नंबर तीन- पब्लिक फ्लोट कम होने से शेयर की द्रव्यता घट जाती है, जिसका मतलब है की अगर आपको स्टॉक खरीदने हैं तो ऐसा भी हो सकता है की आप उन्हें आसानी से पा न सकें। निवेशक कंपनियों का मूल्यांकन करते समय पब्लिक फ्लोट का इस्तेमाल करना बेहतर समझते हैं। क्योंकि इससे ज़्यादातर कंपनी का सही मूल्यांकन हो जाता है। क्या यह एक रोचक विषय था? हमारे पास ऐसे और भी विषय पॉडकास्ट पर हैं, और मैं आपको उन्हें भी सुनने की सलाह दूँगी। और हमारे जानकारी भरे विडिओस भी देखते रहें। ज्यादा फ्री जानकारी के लिए हमारे यू ट्यूब चैनल www.angelbroking.com पर जाएँ, सीखते रहें। तब तक एंजेल ब्रोकिंग की तरफ से अलविदा और शुभ निवेश। म्यूचुअल फ़ंड निवेश बाज़ार जोखिमों के आधीन हैं, सभी दस्तावेज़ों को ध्यान से पढ़ें।