मार्जिन कैलकुलेटर प्रयोग करना

फ्यूचर्स और ऑप्शन्स में ट्रेड करते समय समझने वाली महत्वपूर्ण चीजों में से एक मार्जिन की अवधारणा है। एफ ऐंड ओ में ट्रेडिंग शुरू करने से पहले, आपको ब्रोकर के पास कुछ शुरुआती राशि जमा करनी होगी जिसे इनिशियल मार्जिन कहा जाता है। यह मार्जिन जमा कराने का उद्देश्य है ब्रोकर की रक्षा करना अगर खरीदार या बिक्री करने वाला व्यक्ति फ्यूचर्स औऱ ऑप्शन्स में ट्रेड करते समय दाम के उतार-चढ़ाव के कारण नुकसान झेलता है।

आप जमा किए गए इनिशियल मार्जिन के मल्टिपिल्स में व्यापार कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि मार्जिन 10 प्रतिशत है, और आप रु.10 लाख फ्यूचर्स और ऑप्शन्स में निवेश करना चाहते हैं तो आपको ब्रोकर के पास रु. 1 लाख जमा करना होगा। यह मल्टिपिल जिसमें आप ट्रेड करते हैं, उसे लेवरेज कहा जाता है।

बेशक मार्जिन विभिन्न इन्डेक्स और विभिन्न शेयरों के लिए भिन्न होते हैं। तो, आपको इक्विटी या इंडेक्स एफ ऐंड ओ में ट्रेड करने के लिए मार्जिन पता करने के लिए एक एफ ऐंड ओ कैलकुलेटर चाहिए।

एसपीएएन मार्जिन कैलकुलेटर

एफ ऐंड ओ मार्जिन कैलकुलेटर का उपयोग करने से पहले, एसपीएएन जैसे मार्जिनों के प्रकार जानना जरूरी है। एसपीएएन स्टैन्डर्डाइज़्ड पोर्टफोलिो अनैलिसिस ऑफ रिस्क का लघुरूप है। मार्जिन की गणना करने के लिए एसपीएएन मार्जिन कैलकुलेटर जटिल ऐल्गोरिथ्म्स का प्रयोग करता है। एसपीएएन मार्जिन कैलकुलेटर इनिशियल मार्जिन की गणना करती है जो कि विभिन्न परिदृश्यों (लगभग 16) में किसी विशिष्ट पोर्टफोलियों में अधिकतम नुकसान के बराबर होता है। एसपीएन मार्जिन दिन में छः बार गणना किए जाते हैं, इसलिए दिन के समय के अनुसार यह कैलकुलेटर अलग अलग परिणाम देगा।

वैल्यू ऐट रिस्क मार्जिन 

एनएसई एफ ऐंड मार्जिन कैलकुलेटर में वैल्यू ऐट रिस्क (वीएआर) मार्जिन शामिल है। यह पिछले मूल्य रुझानों और उतारचढ़ाव के स्टेटिस्टिकल विश्लेषण के आधार पर किसी ऐसेट के मूल्य के नुकसान की संभावना का अनुमान लगाता है। मार्जिन इस बात पर निर्भर करते हैं कि सिक्यूरिटीज़ ग्रूप I, ग्रूप II या ग्रूप III में लिस्टेड हैं। विभिन्न इन्डिसीज़ के लिए एक इन्डेक्स वीएआर भी है।

एक्सट्रीम लॉस मार्जिन

फिर एक्सट्रीम लॉस मार्जिन (ईएलएस) है, जो कि निम्नलिखित दोनों मानों में से अधिक वाला हैपिछले छह महीनों में सिक्यूरिटी के दाम के दैनिक लॉगरिथ्मिक रिटर्न के स्टैन्डर्ड डीविएशन का पांच प्रतिशत या 1.5 गुना। इसकी प्रत्येक महीने के अंत में पिछले छः महीने के रोलिंग डेटा के आधार पर गणना की जाती है। परिणाम अगले महीने के लिए लागू रहते हैं।

एंजेल ब्रोकिंग मार्जिन एक्सपोजर

तो, एंजेल ब्रोकिंग मार्जिन सुविधा के साथ आप कितना लाभ उठा सकते हैं? संपत्ति और व्यापार के प्रकार के आधार पर उत्तोलन का जोखिम निर्धारित किया जाता है। यह आमतौर पर कई मार्जिन डिपॉजिट होता है। उदाहरण के लिए, आप अपनी मार्जिन राशि पर इक्विटी और एफएंडओ सेगमेंट में 48 गुना एक्सपोजर प्राप्त कर सकते हैं।

एक और बात, जुलाई 2018 से, सेबी ने सभी निवेशकों के लिए ऑर्डर देने से पहले पर्याप्त मार्जिन राशि (SPAN + एक्सपोजर) को ब्लॉक करना अनिवार्य कर दिया है। दहलीज पर खरा नहीं उतरने से मार्जिन पेनल्टी लगेगी।