एंजेल ब्रोकिंग का ट्रेडिंग और डीमैट खाता खोलना, एक सरल और पेपरलेस प्रक्रिया है। वित्तीय बाज़ारों में ट्रेडिंग करने के लिए स्टॉक एक्सचेंज के साथ पंजीकरण करना अनिवार्य है। एंजेलब्रोकिंग, स्टॉक एक्सचेंज के साथ पंजीकृत एक स्टॉक ब्रोकिंग फर्म है, जो निवेशकों की ट्रेडिंग की आवश्यकताओं से मेल खाने के लिए विभिन्न प्रकार के ट्रेडिंग खाते प्रदान करती है।

बातें, जो आपको ट्रेडिंग खाता खोलने से पहले  पता होनी चाहिए:

1. सावधानीपूर्ण जांच और दर संरचना

2. ऑनलाइन ट्रेडिंग खाता खोलने से संबंधित पूछताछ

3. आवेदन जमा करना 

4. आवेदन की प्राप्ति-सूचना

5. ट्रेडिंग और डीमैट खाते को लिंक करना 

 सावधानीपूर्ण जांच और दर संरचना

– ट्रेडिंग खाता खोलने से पहले मूल्य निर्धारण संरचना और स्टॉक ब्रोकिंग कंपनी द्वारा प्रदान की जाने वाली अन्य सेवाओं पर विचार करें। खाता खोलते समय कुछ ब्रोकिंग हाउस प्रोसेसिंग शुल्क लेते हैं। एंजेल ब्रोकिंग के ट्रेडिंग और डीमैट खातों पर नवीनतम प्रस्तावों का पता लगाएं।

– कुछ ब्रोकिंग हाउस ट्रेडिंग गतिविधियों और इसके होने की अवधि के आधार पर छूट प्रदान करते हैं। ब्रोकिंग हाउस चुनते समय ऑफ़र के लाभों और अतिरिक्त फायदों का लाभ उठाएं।

– स्थापित स्टॉकब्रोकिंग कंपनियों के पास ग्राहकों के साथ बातचीत करने के लिए समर्पित वेबसाइट्सऔर फोरम होते हैं। वेबसाइट से संपर्क विवरण निकालें और प्रक्रिया का पूरा  विवरण प्राप्त करें।

ऑनलाइन ट्रेडिंग खाता खोलने से संबंधित पूछताछ

– ब्रोकिंग हाउस के समर्पित प्रतिनिधियों द्वारा ट्रेडिंग खाता खोलने की प्रक्रिया के बारे में सभी प्रश्नों और स्पष्टीकरण में सहायता प्रदान की जाएगी। किसी भी तरह के संदेहों के लिए, अधिकृत प्रतिनिधि से निसंकोच संपर्क करें।

– कंपनियां अक्सर आपके घर पर ही आराम से दस्तावेज़ पूरे करा देती हैं। इसके लिए प्रतिनिधि खाता खोलने और अपने ग्राहक को जानें (के वाई सी) के फॉर्म्स साथ लायेगा।

आवेदन जमा करना

– ठीक तरह से भरे हुए खाता खोलने के फॉर्म को जमा करने के साथ ही आपको अपनी पहचान और पता स्थापित करने वाले दस्तावेज़ भी देने होंगे।

– इस कार्य के पूरा होने के बाद, फोन कॉल या प्रतिनिधि निरिक्षण के द्वारा एक सत्यापन प्रक्रिया की जाएगी।

आवेदन प्राप्ति-सूचना

– आवश्यक दस्तावेज़और सत्यापन के बाद, आपको बैंक खाता खोलने की प्रक्रिया के समान ही अपने खाते की एक्सेस प्रदान की जाएगी।

– कंपनी ट्रेडिंग विवरण प्रदान करेगी जिसका उपयोग करके आप बाजार के संचालन में भाग ले सकते हैं।

– यूनिक ट्रेडिंग आईडी शेयरों की ट्रेडिंग के लिए आवश्यक है।

ट्रेडिंग और डीमैट खातों को लिंक करना 

– एक ट्रेडिंग खाता डीमैट खाते से अलग होता है। डीमैट खाता केवल शेयर और प्रतिभूतियों को बरकरार रखता है, जबकि ट्रेडिंग खाता उनकी बिक्री और खरीद की सुविधा प्रदान करता है।

– ट्रेडिंग खाते के माध्यम से खरीदे गए शेयरों को डीमैट खाते में जमा किया जा सकता है। मौजूदा शेयरों को भी एक डीमैट खाते से निकाला जा सकता है और एक ट्रेडिंग खाते के माध्यम से बेचा जा सकता है।

– हर बार सत्यापन की प्रक्रिया से बचने के लिए, यही बेहतर होगा कि आप अपने ट्रेडिंग खाते को अपने डीमैट खाते से लिंक करें। यह ट्रेडिंग को आसान बना सकता है।

– आदेश स्वीकृत होने के बाद, शेयरों को या तो आपके खाते से हटा दिया जाता है या आपके डीमैट खाते में जमा कर दिया जाता है।

एंजेल ब्रोकिंग के साथ पंजीकरण करके, आप भारत में सबसे अच्छे ट्रेडिंग खातों में से एक का लाभ उठा सकते हैं। एंजेल ब्रोकिंग के साथ खाता खोलने के लिए यहां क्लिक करें।