एम्प्लोयी स्टॉक ऑप्शंस (कर्मचारी स्टॉक विकल्प) (ईएसओ) एक प्रकार का इक्विटी मुआवजा है जो कंपनियों द्वारा अपने कर्मचारियों को दिया जाता है। कर्मचारी स्टॉक मुआवजे के मामले में, कर्मचारियों को सीधे स्टॉक के शेयर्स के बजाय स्टॉक पर डेरिवेटिव्स विकल्प दिए जाते हैं। इन विकल्पों को स्टैन्डर्ड  क्रय वि‍कल्प के रूप में पेश किया जाता है। यह कर्मचारियों को एक निर्धारित समय सीमा के भीतर एक निर्दिष्ट मूल्य पर कंपनी के स्टॉक खरीदने का अधिकार देता है। विकल्पों में नि‍हि‍त दिनांक और अवसान तिथि होती है। कोई नि‍हि‍त दिनांक से पहले या अवसान तिथि के बाद विकल्पों का प्रयोग नहीं कर सकता है।

स्टॉक विकल्प को स्टार्टअप कंपनियों के लिए विशेष रूप से फायदेमंद माना जाता है, जिनके पास अपर्याप्त कार्यशील पूंजी है। वे उच्च गुणवत्ता वाले कर्मचारियों को लुभाने और बनाए रखने के लिए स्टॉक मुआवजे का उपयोग कर सकते हैं। साथ ही, जब कंपनियां सार्वजनिक होती हैं, तो कंपनियों को इन स्टॉक मुआवजे से लाभ होता है। तेजी से बढ़ती और महत्वाकांक्षी कंपनियां कर्मचारियों को कंपनी के शेयर्स का मूल्य बढ़ाने के लिए प्रोत्साहन के रूप में इन विकल्पों की पेशकश करती हैं। यदि कर्मचारी निहित होना से पहले इस्तीफा दे देते हैं तो ये विकल्प रद्द कर दिए जाते हैं। ईएसओ में कोई डिविडेंड या मतदान अधिकार शामिल नहीं है।

स्टॉक मुआवजे के प्रकार

स्टॉक मुआवजे के प्रकार इस प्रकार हैं:

स्टॉक एप्रिसिएशन राइट्स (एसएआर): एसएआर, शेयर्स की नामांकित संख्या के मूल्य को बढ़ाने के लिए अधिकार प्रदान करते हैं। मूल्य में इस तरह की वृद्धि का भुगतान नकद या कंपनी के स्टॉक में किया जाता है।

प्रतिबंधित स्टॉक अनुदान: ये स्टॉक कर्मचारियों को विशिष्ट नियमों और शर्तों के तहत शेयर्स को हासिल करने या प्राप्त करने का अधिकार देते हैं। इसमें कुछ वर्षों तक काम करना या कुछ लक्ष्यों को पूरा करना शामिल हो सकता है।

फैंटम स्टॉक्स: इस तरह के स्टॉक्स में भविष्य में नकद बोनस शामिल होता है जो परिभाषित संख्या के शेयर्स के मूल्य के बराबर होता है। इसमें शेयर स्वामित्व का कोई कानूनी हस्तांतरण शामिल नहीं है। इस तरह के स्टॉक्स वास्तविक शेयर्स के लिए परिवर्तनीय हो सकते हैं यदि कुछ घटनाएं होती हैं।

कर्मचारी स्टॉक खरीद योजनाएं: इस तरह का स्वामित्व कर्मचारियों को कंपनी के शेयर्स को खरीदने का अधिकार देता है, ज्यादातर डिस्काउंट (दाम में रियायत) पर देता है।

स्टॉक मुआवजे के लाभ और कमियां

स्टॉक मुआवजे के कई लाभ हैं। सबसे पहले, यह स्टॉक विकल्पों के माध्यम से किसी कंपनी के मुनाफे को साझा करने का एक अवसर है। इससे कर्मचारियों को एक वास्तविक शेयरधारक की तरह महसूस होता है। स्वामित्व की भावना फिर से प्रेरित करती है और एक कर्मचारी को कंपनी की सफलता के लिए कड़ी मेहनत करवाती है। योजना के अनुसार, इस तरह के स्टॉक मुआवजे शेयर्स की बिक्री या निपटान पर कर बचत के लिए संभावित पेशकश कर सकते हैं। यह कभी-कभी मालिकों के लिए संभावित निकास रणनीति के रूप में भी उपयोग किया जाता है।

हालांकि, एक्सपर्ट्स का मानना ​​है कि स्टॉक मुआवजे शेयर मूल्य को कम कर सकती है, जो कि लंबे समय में शेयरधारकों के लिए अच्छा नहीं हो सकता है। स्टॉक मुआवजे मूल्य के लिए चुनौतीपूर्ण हो सकता है। यह औसत व्यापार प्रदर्शन के लिए अधिकारियों को उच्च मुआवजा दे सकता है। इसके अलावा, प्रतिधारित आय को प्रयोग मूल्य में गिना जाता है। एक व्यक्तिगत कर्मचारी अक्सर प्रोत्साहन के लिए सभी कर्मचारियों और प्रबंधन के सामूहिक प्रदर्शन पर निर्भर होता है।

निष्कर्ष

स्टॉक मुआवजे का मूल्य कई कारकों पर आधारित होता है जैसे कि आधारभूत स्टॉक की कीमत, अस्थिरता और अवसान का समय। इसलिए, स्टॉक मुआवजे के लिए चयन करने से पहले इन सभी को समझना महत्वपूर्ण है। कंपनियों और कर्मचारियों दोनों के लिए स्टॉक मुआवजे पर विचार करने से पहले सभी फायदे और नुक्सान को समझना आवश्यक है।

ईएसओ धारकों को कंपनी के स्टॉक विकल्प योजनाओं के साथ-साथ प्रतिबंधों और योजनाओं को समझने के लिए समझौते के साथ अच्छी तरह से वाकिफ होना चाहिए। मुआवजे के इस घटक के अधिकतम लाभ को समझने के लिए एक वित्तीय एक्सपर्ट से परामर्श करना भी उचित है।