मार्किट कैपिटलाइजेशन शेयर मार्केट्स का एक जरूरी एलिमेंट है और जो कोई भी इसमें ट्रेड करना चाहता है उसे इस कांसेप्ट को समझना जरूरी है। मार्केट कैपिटल, जो कैपिटलाइजेशन का रूप है, जो कि एक निश्चित कंपनी  की कुल मार्किट वैल्यू को आकार देता है। इसे फर्म स्टॉक को आउटस्टैंडिंग शेयर नंबरों  से गुणा करके निकाला जा सकता है। 

यदि कंपनी एक्स 100 रुपये प्रति शेयर पर ट्रेड करती है और इसमें उसके पास 500 शेयर आउटस्टैंडिंग हैं, तो इसका मतलब है कि इसकी मार्केट कैप 100 x 500 शेयर है, जो 50,000 रुपये है।

स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड कंपनियों के मार्किट कैपिटलाइजेशन के आधार पर, उन्हें स्माल या लार्ज कैपिटल स्टॉक्स में बाँटा गया है। मार्किट कैपिटलाइजेशन इन्वेस्टर्स को मार्किट  में कंपनी के मूल्य की तुलना और आकलन करने में मदद करता है और ऐसी कंपनियों में इन्वेस्ट  करने में जोखिमों को देखने में भी मदद करता है। मार्केट कैपिटल को समझना इन्वेस्टर्स  को मार्किट कैपिटलाइजेशन के अलग-अलग शेयरों के साथ अपने पोर्टफोलियो को संतुलित करने में भी मदद करता है ताकि संतुलन बना रहे। इस तरह, इन्वेस्टर रिस्क और रिवॉर्ड का संतुलन बना सकते है।सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (एसइबीआई ) के अनुसार, 1 से 100 रैंक वाली टॉप  100 कंपनियों को लार्ज  कैपिटल फर्म,   101 से 250 रैंक वाली कंपनियों को मिड कैपिटल फर्म, जबकि 251 और इससे नीचे की रैंक वाली कंपनियां स्माल कैपिटल फर्म में वर्गीकृत किया गया है।

तो, लार्ज  कैपिटल और स्माल  कैप शेयरों के बीच क्या अंतर है?

बाजार मूल्य:

लार्ज कैप और स्माल कैप शेयरों में सबसे बड़ा अंतर उनके मार्किट कैपिटलाइजेशन में है, जैसा कि पहले भी बताया गया है।आम तौर पर स्माल कैप शेयरों की मार्केट कैपिटल 500 करोड़ रुपये तक होती है। लार्ज कैप स्टॉक की मार्केट कैपिटल 7,000 करोड़ से 20,000 करोड़ रुपये या उससे अधिक में चल रहे हैं, वे है। भारत में लिस्टेड 95% से अधिक कंपनियों को स्माल कैपिटल फर्म  के रूप में माना जाता है। जब देश में लार्ज कैपिटल शेयरों को देखते है, तो निफ्टी 50 शीर्ष 50 ऐसे शेयरों में शामिल होते हैं, जो स्टॉक मार्किट में सबसे अधिक ट्रेड कर रहे हैं। कुछ लार्ज कैप शेयरों को ब्लू चिप स्टॉक भी कहा जाता है क्योंकि वे उन कंपनियों से संबंधित हैं जो ब्लू चिप है, यानी, अपने क्षेत्र में मार्किट लीडर हैं।

ग्रोथ कर्व  :

स्माल कैपिटल और  लार्ज कैपिटल स्टॉक / कंपनियों के बीच अंतर उनके ग्रोथ कर्व से भी देखा जाता है। स्माल कैपिटल स्टॉक उन कंपनियों से संबंधित हैं जो अभी भी अपनी ग्रोथ शुरू कर रहे हैं। वे स्टार्ट-अप या फर्म हो सकती हैं जो अभी शुरू  हुई हैं। दूसरी ओर, लार्ज कैप स्टॉक उन कंपनियों से संबंधित  हैं जो अच्छी तरह से स्थापित हैं और ग्रोथ का एक ट्रैक रिकॉर्ड सिद्ध कर रही है।

डेविडेंट पेमेंट्स :

एक और स्माल कैप और   लार्ज कैपिटल बीच अंतर को उनके डीवीडेंड पेमेंट्सकी तुलना से भी  कर सकतें हैं| लार्ज कैपिटल कंपनियां समय-समय पर अपने इन्वेस्टर्स को डीवीडेंड का भुगतान करती हैं। दूसरी ओर, स्माल कैपिटल कंपनियों से डीवीडेंड लेने की ज्यादा उम्मीद नही कर सकते।  स्मॉल कैप कंपनियों को पुनर्निवेश के लिए फंडों की जरूरत पड़ सकती है क्योंकि वे ग्रोथ ट्रैक पर हैं।

शेयरों का मूल्य निर्धारण:

लार्ज कैपिटल और स्माल कैप शेयरों के बीच का अंतरइसके स्टॉक के मूल्य निर्धारण से भी कर सकतें है। चूंकि स्माल कैपिटल कंपनियां अभी तक खुद को स्थापित नहीं कर पायीं हैं, इसलिए उनके स्टॉक्स का मूल्यलार्ज कैपिटल कंपनियों की तुलना में कम है। और लार्ज कैप स्टॉक स्माल कैप स्टॉक्स की तुलना में  ज्यादा महंगे हैं।

 तरलता :

 तरलता पर, लार्ज कैपिटल स्टॉक्स  में इन्वेस्ट करना एक और अच्छा आप्शन है क्योंकि खरीददार उनकी लोकप्रियता और ट्रैक रिकॉर्ड के कारण उन्हें खरीद सकते हैं। लार्ज कैपिटल स्टॉक लंबे समय से बाजार में रहे हैं और वे प्रसिद्ध हैं। स्माल कैपिटल  स्टॉक अक्सर कम तरल होते हैं बहुत से इन्वेस्टर्सको ऐसे स्टॉक्स के बारे में पता नही होता है र और उनके लिए उन्हें बेचना एक समय लेने वाली प्रक्रिया हो सकती है।

अस्थिरता और जोखिम:

स्माल कैप स्टॉक और लार्ज स्टॉक की समीकरण की अस्तिरता और जोखिम से भी देख सकते है। आम तौर पर, लार्ज कैप स्टॉक को स्माल कैप की तुलना में अधिक स्थिर माना जाता है लेकिन दूसरी तरफ, स्माल कैप स्टॉक ग्रोथ के लिए एक अवसर प्रदान करते हैं। दोनों लार्ज कैप और  स्माल कैप स्टॉक्स के फायदे और नुकसानहैं और दोनों चीजों को शामिल करने से  एक बेहतर सूची बन सकती है।

मार्किट में  उपस्थिति:

स्माल कैप स्टॉक और लार्ज कैप स्टॉक की तुलना में मार्किट में उपस्तिथि को भी ध्यान में रख सकते है।  लार्ज कैप स्टॉक्स में एक स्पष्ट उपस्थिति होती है और इन्हें ट्रैक करना में आसानी होती है। | वे  डेली फाइनेंसियल इनफार्मेशन देते है ताकि कोई भी इन्वेस्टर्स आसानी से देख सके। लार्ज कैप कंपनियां अपने बयानों और दस्तावेजों को जारी करने के लिए और उन्हें जनता के लिए उपलब्ध कराने के लिए बाध्य हैं। दूसरी ओर, स्माल  कैप स्टॉक्स में ज्यादा उपस्थित नहीं होते हैऐसी कंपनियों के बारे में जानकारी लेने के लिए ज्यादा रिसर्च की जरूरत होती है।

इन्वेस्ट करने से पहले अपने रिस्क  लेने की क्षमता का आकलन करें

निवेश इन्वेस्टमेंट से देखें तो, स्माल कैप स्टॉक जायदा रिस्क लेने वाले लोगों के लिए बिलकुल सही हो सकते हैं जबकि लार्ज कैप स्टॉक उन लोगों के  लिये सही सकते हैं जो रिस्क नही लेन चाहते हैं या ज्यादा रिस्क लेने में शक्षम नही है और स्थिरता पसंद करते हैं। आप किस प्रकार के इन्वेस्टर हैं, इस पर निर्भर करते हुए, आप स्माल  कैप स्टॉक या लार्ज कैप स्टॉक  को चुन सकते हैं। एक व्यक्ति की  रिस्क  प्रोफ़ाइल, इन्वेस्ट लिमिट  क्षितिज और लक्ष्यों को एक निश्चित मार्किट कैप स्टॉक पर निर्णय लेने में  देना  चाहिए।

निष्कर्ष

स्टॉक्स को उनके मार्किट कैपिटलाइजेशन के आधार पर स्माल, मिड  और लार्ज   कैपिटल के रूप में  बाँटा जाता है। स्माल कैपिटल स्टॉक उन कंपनियों से संबंधित हैं जिनके पास एक छोटी मार्केट कैपिटल है और अभी तक खुद को स्थापित करने के लिए शुरुआती दौर में हैं और उनके ग्रोथ कर्व की शुरुआत हुई हैं।

दूसरी ओर, लार्ज  कैपिटल कंपनियां अच्छी तरह से स्थापित हो चुकी हैं और कभी-कभी अपने क्षेत्रों में मार्किट लीडर होती  हैं। वे  स्थिर होती हैं और रिसर्च और देखने में भी आसान होते है। स्माल  कैपिटलस अपेक्षाकृत कम मिलते  हैं और इसमें इन्वेस्ट करने से  रिसर्च और ट्रैकिंग की जरूरत हो सकती है। लार्ज  कैपिटल और   स्माल कैपिटलअ की तुलना संतुलित पोर्टफोलियो को देखने में मदद करता है जहां पर्याप्त विविधीकरण और  रिस्क रिवॉर्ड संतुलित है।