ट्रेडिंग चार्ट पैटर्न के लिए एक व्यापक गाइडबुक

हम हमेशा इस बारे में बात करते हैं कि कारोबारियों और निवेशकों को निर्णय लेने के लिए ट्रेडिंग चार्ट कैसे महत्वपूर्ण हैं। आज कई ट्रेडिंग चार्ट उभरे हैं, प्रत्येक बहुत सारी आवश्यकताओं के लिए होते है, जो इसे समझना, विशेष रूप से नए निवेशकों के लिए, यह समझना मुश्किल बनाता है कि कौन से चार्ट उनके लिए बेहतर हैं। सफलतापूर्वक कारोबार करने के लिए, कारोबारियों को बाजार में स्थिति लेने के लिए सामान्यतः गठित और संकेतक चार्टों के पैटर्नों की तेजी से पहचान करने के कौशल का निर्माण करना होगा।

इस लेख में, हम विभिन्न चार्ट पैटर्नों पर तथा इस बात पर चर्चा करेंगे कि कैसे इनका अनुसरण करके निवेशक और कारोबारी अपने जोखिम-इनाम की स्थिति अनुकूलित कर सकते हैं।

चार्ट पैटर्न तकनीकी कारोबार का एक महत्वपूर्ण घटक हैं। वे बहुआयामी और उपयोगी हैं

— बाजार की प्रवृत्ति पढ़ें ताकि आपको पता चले कि आप खरीदना सकते हैं या बेच सकते हैं

— नई प्रविष्टि और निकास बिंदुओं की खोज करें और प्रवृत्ति के गलत पक्ष में होने से बचें

— अत्यधिक लाभदायक कारोबार अवसरों का पता लगाएं

मूल्य पैटर्न महत्वपूर्ण व्यापारिक अंतर्दृष्टि दे सकते हैं, लेकिन प्रमुख बात यह जानना है कि उन्हें कैसे पढ़ना है और एक व्यावहारिक कारोबार रणनीति बनाते समय शोर को कैसे खत्म करना है। ट्रेडिंग चार्ट पैटर्न की भूलभुलैया से माध्यम से आगे बढ़ाने में आपकी सहायता करने के लिए, हमने आमतौर पर उभरे पैटर्नों की एक सूची संकलित की है, जिसका आपको ध्यान रखना चाहिए।

11 महत्वपूर्ण चार्टिंग पैटर्न जिन्हें आप अनदेखा नहीं कर सकते हैं

हेड और शोल्डर फॉर्मेशन

यह एक विशिष्ट संरचना है जो अपने बीच में एक बड़े शीर्ष तथा इसके दोनों तरफ दो छोटे शीर्षों को जोड़ता है। कारोबारी पैटर्न को बुलिश-से-बियरिश प्रवृत्ति उत्क्रमण का अनुमान लगाने के लिए देखते हैं।

आमतौर पर पहले और तीसरे शीर्ष दूसरे शीर्ष की तुलना में छोटे होते हैं, और सभी तीन अंततः समर्थन रेखा पर वापस आते हैं, जिसे नेकरेखा भी कहा जाता है। जब तीसरा शिखर समर्थन रेखा पर वापस आ जाता है, कारोबारी इसे बियरिश डाउनट्रेंड में ब्रेकआउट मानते हैं।

डबल टॉप और बॉटम पैटर्न

डबल टॉप तथा बॉटम पैटर्न प्रवृत्ति उत्क्रमण से पहले दिखाई देता है। इन चरणों के दौरान, परिसंपत्ति मूल्य ट्रेंड रेखा के दूसरी तरफ पार करने से पहले दो बार गिर या बढ़ जाता है। डबल टॉप मूल्य वृद्धि होती है और फिर समर्थन रेखा पर वापस गिर जाता है, और फिर से बियरिश डाउनट्रेंड के टेक ओवर करने से पहले फिर से वृद्धि पर जाता है।

डबल बॉटम डबल टॉप के विपरीत होता है। एक डबल बॉटम में, ग्राफ मजबूत बिक्री इंगित करता है जिससे संपत्ति मूल्य समर्थन रेखा से नीचे गिर जाता है । प्रारंभिक गिरावट के बाद, कीमतें फिर से समर्थन रेखा पर वापस गिरती हैं और फिर दूसरी बार गिर जाती हैं। अंत में, कीमतें बुलिश प्रवृत्ति उत्क्रमण को तोड़ने के लिए तेजी से समर्थन रेखा से ऊपर बढ़ जाता है।

राउंडिंग बॉटम पैटर्न

राउंडिग बॉटम पैटर्न बहुत सारे स्टॉक चार्ट पैटर्नों में से है जो कि निरंतरता या एक उत्क्रमण को निरूपित करता है। बुलिश रिवर्सल सबसे आम राउंडिंग बॉटम पैटर्न है। यह एक ‘U’ की तरह दिखता है और एक विस्तारित डाउनट्रेंड के अंत में निर्मित होता है।

यह एक दीर्घकालिक मूल्य संचलन है जो कई हफ्तों या कई महीनों के दौरान बनता है। प्रारंभिक डाउनवर्ड ढलान अतिरिक्त आपूर्ति या बिक्री का संकेत है, जो अंततः एक अपट्रेंड में परिवर्तित हो जाता है जब खरीदार कम कीमत पर बाजार में प्रवेश करते हैं। राउंडेड बॉटम का निर्माण पूरा हो जाने के बाद, कीमतें ब्रेकआउट हो जाती हैं तथा अपट्रेंड जारी रहता है।

कप और हैंडल

कप और हैंडल पैटर्न काफी हद तक राउंडेड बॉटम के समान है, केवल एक छोटे डाउनट्रेंड के अलावा जो कि एक कप के हैंडल की तरह लगता है जो कि राउंडेड बॉटम के पूरा होने के बाद बनता है। शॉर्ट बियरिश अवस्था वापसी का एक संक्षिप्त क्षण इंगित करती है जो हैंडल की तरह लगता है, इसीलिए यह नाम दिया गया।

कप और हैंडल एक बुलिश उत्क्रमण पैटर्न है,जो शार्ट बियरिंग अवस्था को लाता है, जिसके बाद बाजार में वृद्धि जारी रहती है।

वेजेस

वेजेस एक चार्ट पैटर्न जहां दो ढलान वाली प्रवृत्ति रेखाएं अंत में अभिसरण करती हैं। यह या तो बढ़ना या गिरना हो सकता है। बढ़ते वेजेस में, मूल्य रेखा को समर्थन और प्रतिरोध रेखाओं के बीच फंस जाती है, जो दोनों ही ऊपर की ओर झुका हुई होती हैं। इस मामले में, समर्थन रेखा में प्रतिरोध रेखा की तुलना में एक तेज वृद्धि होती है। जब बढ़ते हुए वेजेस पैटर्न दिखाई देते हैं, तो निवेशक कि संपत्ति की कीमत गिरने की और अंततः समर्थन रेखा से नीचे टूटने की उम्मीद करते हैं।

इसके विपरीत, एक डाउनट्रेंड वेजेस के लिए, मूल्य रेखा दो नीचे की ओर ढलान वाली प्रवृत्ति रेखाओं के बीच स्थित है। प्रतिरोध समर्थन की तुलना में तेज है, यह दर्शाता है कि एक परिसंपत्ति की कीमत बढ़ रही है और शायद प्रतिरोध स्तर के माध्यम से टूट जाएगी।

बढ़ती वेजेस बियरिश बाजार से संबंधित है, और एक गिरने वाले वेजेस पारंपरिक तौर पर एक बुलिश बाजार हैं।

पताका और ध्वज

पेनंट्स या झंडे संक्षिप्त त्रिकोणीय पैटर्न होते हैं, जहां पर दो लाइनें एक सेट बिंदु पर अभिसरण करती हैं। इनका निर्माण मजबूत अपट्रेंड या डाउनट्रेंड संचलन के बाद होता है, जो यह दर्शाता है कि कारोबारियों ने प्रवृत्ति जारी होने के पूर्व मजबूत करने के लिए पॉज कर दिया हो सकता है। वेजेस और पताका समान दिख सकती हैं, लेकिन वे समान नहीं हैं। वेजेस पताकाओं की तुलना में संकरे होते हैं और प्रवृत्ति उत्क्रमण के संकेत हैं। वेजेस आमतौर पर ऊपर की ओर या नीचे की ओर पैटर्न होते हैं, जबकि पताका हमेशा क्षैतिज होती है।

कुछ कारोबारी पताका पैटर्न की पहचान ध्वज पैटर्न से अलग है। ध्वज पैटर्न में, समर्थन और प्रतिरोध रेखाएं दोनों ब्रेकआउट से पहले समानांतर रूप से चलती हैं, अक्सर मौजूदा प्रवृत्ति की विपरीत दिशा में। पताका के विपरीत, ध्वज आकार एक प्रवृत्ति उत्क्रमण को इंगित करता है।

त्रिभुज आकृतियाँ — आरोही और अवरोही

एक आरोही त्रिभुज एक बुलिश प्रवृत्ति की निरंतरता को दर्शाता है। इसे प्रतिरोध स्तर पर एक क्षैतिज स्विंग रेखा रखकर खींचा जा सकता है और फिर नीचे ऊपर की तरफ जाती हुई स्विंग रेखा या समर्थन रेखा रखकर खींचा जा सकता है।

इसके विपरीत, एक नीचे की ओर त्रिभुज तब बनता है जब प्रतिरोध रेखा क्षैतिज समर्थन रेखा की ओर नीचे की ओर ढलती है। आखिरकार, एक अवरोही त्रिभुज समर्थन रेखा के माध्यम से टूट जाता है, और कारोबारी एक लघु स्थिति में प्रवेश कर सकते हैं।

सममित त्रिभुज

सममित त्रिभुज एक प्रवृत्ति पैटर्न की निरंतरता है। ऐसा तब उत्पन्न होता है जब बाजार लगातार उतार-चढ़ाव के माध्यम से जाते हुए एक बिंदु पर अभिसरण करने के लिए शीर्ष और गर्त की एक श्रृंखला बनाते हैं। आरोही या अवरोही त्रिभुज के विपरीत, सममित त्रिभुज एक क्षैतिज पैटर्न है।

यह सबसे अच्छा बाजार में अस्थिरता का वर्णन करता है, जहां प्रवृत्ति उत्क्रमण पर स्पष्टता के बिना चल रही एक प्रवृत्ति के दौरान विपरीत कीमत संचलन है। सममित त्रिभुज पैटर्न के निर्माण के बाद बाजार किसी भी दिशा में टूट सकता है।

चार्ट पैटर्न की व्याख्या करना

विश्लेषकों और कारोबारियों के दो विभिन्न समूह हैं जो अलग-अलग पैटर्न को अलग तरह से पढ़ेंगे। लेकिन बाजार में मूल्य संचलन का अध्ययन करने के लिए प्रवृत्ति रेखा उपयोगी हैं। एक ऊपर की ओर झुकी हुई प्रवृत्ति रेखा इंगित करती है कि वहाँ उच्चतम तथा निम्नतम के बीच अधिक महत्वपूर्ण मूल्य उतार-चढ़ाव हैं। इसी तरह, एक नीचे की ओर ढलान प्रवृत्ति रेखा तब प्रकट होती है जब कीमतें कम उच्चतम तथा निम्नतम के बीच बढ़ रही होती है।

पैटर्न को चित्रित करने में कौन से डेटा बिंदुओं का प्रयोग करना है इससे संबंधित तर्क भी हैं। इसके निर्माण के लिए पैटर्न और स्थिति बाजार भावना का भी सुझाव देती है। विश्लेषकों के एक वर्ग का सुझाव है कि मूल्य रेखा खींचने के लिए कैडल बार की बॉडी उपयोग की जानी चाहिए, छाया नहीं। कुछ चार्टर पैटर्न खीचने के लिए केवल समापन मूल्य का उपयोग करना पसंद करते हैं क्योंकि अधिमानतः यह स्थिति होती है जिसे कारोबारी दिन के अंत में निवेशक बनाए रखना चाहते हैं।

तीन सबसे महत्वपूर्ण चार्ट प्रकार

पैटर्न की तरह, तकनीकी विश्लेषकों द्वारा मान्यता प्राप्त विभिन्न प्रकार के चार्ट प्रकार भी हैं। तीन सबसे व्यापक रूप से इस्तेमाल किए गए चार्ट प्रकार हैं,

रेखा चार्ट: ये साधारण वित्तीय चार्ट हैं जो सामान्य मूल्य संचलन को दिखाने के लिए बंद कीमतों के बीच तैयार किए जाते हैं। हालांकि, ये चार्ट बार या कैंडलस्टिक चार्ट पैटर्न जैसी ग्रेन्यूलर जानकारी नहीं देते हैं। इसलिए, पुष्टि के लिए इनका मिलान अधिक खुलासा करने वाले चार्टों के साथ किया जाना चाहिए।

बार चार्ट: बार ट्रेडिंग चार्ट पैटर्न को ओएचसीएल चार्ट भी कहा जाता है, जिसका अर्थ है खुलना, समापन, उच्च और निम्न। रेखा चार्ट के विपरीत,ये अधिक विस्तृत हैं, कारोबारियों और निवेशकों को परिसंपत्ति मूल्य संचलनों के बारे में अधिक अंतर्दृष्टि प्रदान करते हैं।

कैंडलस्टिक चार्ट: कैंडलस्टिक चार्ट लोकप्रिय ट्रेडिंग चार्ट हैं जो बार चार्ट की तरह दिखते हैं लेकिन यह दिन के उच्च और निम्न को भी भी स्पष्ट रूप से दिखाते हैं। प्रत्येक बेलनाकार बॉडी दिन के खुलने तथा समापन मूल्य को कैप्चर करती है, जबकि ऊपरी और निचली छाया परिसंपत्ति के लिए क्रमशः दिन की उच्च और निम्न का प्रतिनिधित्व करती हैं।

कैंडलस्टिक चार्ट में अलग-अलग चार्ट पैटर्न होते हैं जिन पर अलग-अलग चर्चा की जाने की आवश्यकता होती है।

निष्कर्ष

चार्ट पैटर्न यह समझने के लिए उपयोगी तकनीकी उपकरण हैं कि एक परिसंपत्ति मूल्य ने एक निश्चित तरीके से व्यवहार क्यों किया है। ये बाजार समर्थन और प्रतिरोध स्तर का संकेत हैं, कारोबारियों को दीर्घ या लघु स्थिति खोलने में मदद करते हैं।

स्टॉक चार्ट पैटर्न का उपयोग बाजार संचलन का अध्ययन करने और जोखिम-इनाम स्थितियों का प्रबंधन करने के लिए किया जाता है। कारोबारी बाजार में लाभदायक प्रवेश की पहचान करने के लिए चार्ट का उपयोग करते हैं या एक गिरावट होने पर बाहर निकलने की योजना बनाते हैं। इन के आधार पर, वे अपने स्टॉप-लॉस स्तर निर्धारित करते हैं।

तो, सबसे लाभदायक चार्ट पैटर्न कौन सा है? आदर्श जवाब यह है कि कोई नहीं। निवेशक एक विशेष स्थिति के तहत लाभप्रदता को अनुकूलित करने के लिए बाजार की जारी प्रवृत्ति के साथ अपनी व्यापारिक रणनीतियों को संरेखित करते हैं।