इंट्राडे व्यापार की बात आने पर अक्सर पुरानी कहावतथोड़ा ही बहुत हैको लागू  किया जा सकता है। आम तौर पर, पूरे कारोबारी दिन स्टॉक खरीदने और बेचने के विपरीत अपनी इंट्राडे ट्रेडिंग को कुछ महत्वपूर्ण घंटों तक सीमित करना बुद्धिमानी भरा साबित हो सकता है। वास्तव में, व्यापार करने के लिए प्रत्येक दिन दो रणनीतिक रूप से चुने गए घंटे समर्पित करना उन व्यापारियों के लिए अधिक फायदेमंद साबित हुआ है जो स्टॉक, इंडेक्स फ्यूचर और ईटीएफ के साथ काम करते हैं।

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए सर्वश्रेष्ठ समय सीमा

दीर्घकालिक इंट्राडे कारोबारियों के लिए सबसे अच्छी समय सीमा ढूँढना बहुत फायदेमंद है। चूंकि इन घंटो को महत्वपूर्ण बाजार गतिविधि के लिए जाना जाता है, इनका उपयोग करने से आपकी कार्यक्षमता को अधिकतम करने में मदद मिल सकती है। इसके दूसरे पहलू में, जो लोग पूरे दिन के लिए व्यापार डे ट्रेड करते हैं, उन्हें अपर्याप्त लाभ के साथ अन्य चीजों के लिए बहुत कम समय मिलता है।यहां तक कि इंट्राडे कारोबार के लिए सबसे अच्छी समय सीमा के बाहर कारोबार करने पर अनुभवी इंट्राडे  कारोबारी भी अपने पैसे खो सकते हैं इससे यह प्रश्न उत्पन्न होता है: इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए सबसे अच्छी समय सीमा क्या है? उत्तर: सुबह 9:30 से 10:30 बजे के बीच।

क्या मुझे पहले पंद्रह मिनट में कारोबार करना चाहिए?

इंट्राडे  कारोबार के लिए सबसे अच्छी समय सीमा शेयर बाजार खुलने के बाद के एक से दो घंटे हैं। हालांकि, अधिकांश स्टॉक मार्केट कारोबार माध्यम भारत में 9:15 बजे से खुलते हैं। तो, 9:15 पर क्यों न शुरू करें? यदि आप एक अनुभवी व्यापारी हैं, तो हो सकता है कि पहले 15 मिनट के भीतर कारोबार करना उतना जोखिमभरा हो शुरुआती लोगों के लिए, 9:30 तक इंतजार करने की सलाह दी जाती है। इसके पीछे का कारण सरल सा है; बाजार खुलने के पहले कुछ मिनटों में, स्टॉक पिछली रात की खबरों पर प्रतिक्रिया कर रहे होते हैं।

ट्रेड्स अक्सर एक विशेष दिशा में मूल्यों के तीव्र झुकाव को प्रदर्शित करेंगे। इसेमूक धन घटना/डंब मनी घटनाकहा जाता है, क्योंकि लोग पुरानी खबरों के आधार पर अपना सर्वश्रेष्ठ अनुमान लगा रहे हैं। अनुभवी कारोबारी पहले 15 मिनट के भीतर कुछ मूल्यवान ट्रेड्स का फायदा उठा सकते हैं। वे आम तौर पर अत्यधिक उच्च या कम कीमत बिंदुओं का लाभ उठाते हैं और इसे विपरीत दिशा में उलट देते हैं। नए लोगों को जिन्होंने कभी भी मूक धन घटना/डंब मनी घटना, या अनुभवी कारोबारियों द्वारा इसके वापस उलटने की नियोजित रणनीति के बारे में नहीं सुना है बाजार अत्यधिक अस्थिर दिखाई देगा। इसलिए,  9:15 बजे कूद पड़ने से सुरक्षित विचार 9:30 तक प्रतीक्षा करना है।

बाजार के खुलने पर ट्रेडिंग

अस्थिरता पूरी तरह से बुरी नहीं होती है।नए लोगों के लिए अस्थिरता की आदर्श मात्रा बाजार में शुरुआती शीर्ष कारोबारों के बाद आती है। इसलिए, यह सुबह 9:30 बजे से सुबह 10:30 बजे तक की समय सीमा को कारोबार करने का ट्रेड्स करने का आदर्श समय बना देता है। बाजार खुलने के पहले कुछ घंटों में इंट्राडे कारोबार के कई लाभ है:

  • पहला घंटा आमतौर पर सबसे अस्थिर होता है, जो दिन के सर्वोत्तम ट्रेडों को बनाने का पर्याप्त अवसर प्रदान करता है।
  • पहला घंटा बाजार में आने तथा बाहर निकलने के लिए आवश्यक लिक्विडिटी/नगदी प्रदान करता है। लिक्विड स्टॉक मात्रा में अधिक हैं, इसलिए उन्हें तेजी से बेचा जाने की संभावना है।
  • पहले घंटे में खरीदे गए या ट्रेड किए गए स्टॉक पूरे कारोबारी दिन के कुछ सबसे बड़े कदमों में से प्रदर्शित किए गए हैं। यदि सही तरीके से किया जाता है, तो यह कारोबारी दिन के दौरान अन्य समयावधि की तुलना में उच्चतम रिटर्न प्रदान कर सकता है। यदि गलत तरीके से किया जाता है, तो भारी नुकसान हो सकता है।
  • – 11 बजे के बाद, ट्रेडों में आमतौर पर अधिक समय लगता है और छोटी मात्रा में होते हैं; इंट्राडे कारोबारियों के लिए एक बुरा संयोजन, जिन्हें 3:30 बजे से पहले अपने एक्सचेंजों को समेटने की आवश्यकता होती है। यदि आपको अधिक समय की आवश्यकता है, तो इस सत्र को 11 बजे तक विस्तारित करना फायदेमंद है। हालांकि, अपने कारोबारों को पहले घंटे तक सीमित करने की रणनीति डे ट्रेडिंग के लिए बेहतर है।

व्यापक दृष्टिकोण को ध्यान में रखें

प्रत्येक कारोबारी के लिए 9:30 से 10:30 की समय सीमा का पालन करना कोई अडिग नियम नहीं है। सामान्य रूप से यह नए लोगों के लिए उपयुक्त है, लेकिन इसे व्यक्तिगत आवश्यकताओं के लिए अनुकूलित किया जा सकता है। व्यापक दृष्टिकोण को ध्यान में रखना बुद्धिमानी है।

उदाहरण के लिए, इंट्राडे कारोबार के लिए सर्वोत्तम समय सीमा का उपयोग करने के अलावा, सप्ताह के दिन को ध्यान में रखना एक और रणनीति है। सोमवार की दोपहर अक्सर बाजार पर खरीदारी करने के लिए एक वांछनीय समय है क्योंकि ऐतिहासिक रूप से कारोबार सप्ताह की शुरुआत में इसमें गिरावट की प्रवृत्ति रही है। एक्सपर्ट्स सोमवारी गिरावट होने से पहले शुक्रवार को ही बेचने का सुझाव देते है।

इसके अतिरिक्त, हर कारोबारी उस पहले घंटे को को गतिविधियों से भरने की जरूरत नहीं है। जो कारोबारी दिन में कई ट्रेड्स तक पहुंचने की प्रवृत्ति रखते हैं, वे थोड़े समय की सीमा चुन सकते हैं। वैकल्पिक रूप से, इंट्राडे कारोबारी जो प्रति दिन केवल कुछ मुट्ठी भर ट्रेड्स तक ही पहुंचते हैं, वे लंबे समय की सीमा चुन सकते हैं। अनुभवी व्यापारियों को,अपनी सक्रियता के अनुसार अलगअलग दिनों में अपनी समय सीमा बदलने के लिए भी जाना जाता है।